DA Image
30 मई, 2020|5:17|IST

अगली स्टोरी

सुसराल में करती रही आरजू-विनती फिर भी हो गई बेघर

सुसराल में करती रही आरजू-विनती फिर भी हो गई बेघर

जिले के मुफस्सिल थाने के बासोपाली गांव की सीमा देवी अपनी ससुराल में आरजू व विनती करती रही। हमेशा अपने पति से गुहार लगाती रही कि उसके मायके वालों के पास पैसा नहीं है। वे दहेज की मांग पूरी नहीं कर सकते। फिर भी ससुराल वाले नहीं माने और उसकी पिटाई कर उसे घर से निकाल  दिया। 

वह फिलहाल अपने मामा के घर मैरवा थाने के उपाध्याय छापर गांव में रह रही है। उसकी शादी राजेश सिंह से जून 2010 में हुई थी। उसी समय से दहेज की मांग होने लगी। दहेज की मांग करने वाले पति, ससुर, राजाराम सिंह, ननद अनिता, बबिता, रानी,  ननदोई शेषनाथ सिंह व अभिषेक सिंह भी शामिल हैं। 

इस मामले में महिला थाने में रविवार की शाम एफआईआर दर्ज कराई गई। इसमें इन सभी को आरोपित किया गया है। इसमें कहा गया है कि पति उससे दो लाख रुपये की मांग कर रहे थे कि उन्हें व्यवसाय करना है। 1 नवम्बर 2015 को उसकी पिटाई की गई। उस समय कहा गया कि वह रुपये मांग कर दे दे। कुछ दिन इंतजार किया गया।

इस बीच,  26 जनवरी को ननदोई ने किरासन तेल डालकर हत्या करने का प्रयास किया। इसमें वह किसी तरह बच गई। वहां से वह मामा के घर जाकर रहने लगी। कई बार पंचायती की गयी। जब मामला नहीं सुलझा तो रविवार को महिला थाने में एफआईआर दर्ज कराई।  महिला थानाध्यक्ष पूनम कुमारी ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है। 

असांव में भी किया बेघर
जिले के असांव में एक महिला को बेघर किया गया है। इस मामले की एफआईआर महिला थाने में रविवार को दर्ज कराई गई है। महिला का मायके गोपालगंज जिले के खजुरिया गांव में है। उसकी शादी चार मार्च 2015 में हुई है, लेकिन उसे भी अस्सी हजार रुपये व अन्य सामान नहीं मिलने पर घर से निकाल दिया गया। इसमें भी पति राजा चौधरी, देवर विशाल, संतोष, कागज आदि को आरोपित किया गया है। महिला थाने की पुलिस मामले की जांच कर रही है।