फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi Newsबीएससी एग्रीकल्चर के छात्रों को अब मिलेगी प्रोफेशनल डिग्री

बीएससी एग्रीकल्चर के छात्रों को अब मिलेगी प्रोफेशनल डिग्री

देश भर में अब बीएससी एजी (कृषि स्नातक) के छात्रों को अब सामान्य डिग्री के बदले प्रोफेशनल डिग्री मिलेगी। इस प्रस्ताव पर भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद (आइसीएआर) ने मुहर लगा दी है। इससे अब इस डिग्री का...

बीएससी एग्रीकल्चर के छात्रों को अब मिलेगी प्रोफेशनल डिग्री
लाइव हिन्दुस्तान टीमFri, 02 Sep 2016 08:54 AM
ऐप पर पढ़ें

देश भर में अब बीएससी एजी (कृषि स्नातक) के छात्रों को अब सामान्य डिग्री के बदले प्रोफेशनल डिग्री मिलेगी। इस प्रस्ताव पर भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद (आइसीएआर) ने मुहर लगा दी है। इससे अब इस डिग्री का महत्व और बढ़ जाएगा। छात्र डेयरी, फूड प्रोसेसिंग सहित अन्य व्यवसाय शुरू कर सकते हैं या फिर नौकरी में भी पहले की अपेक्षा अधिक पे ग्रेड मिलेगा।

अब तक देश भर के कृषि विश्वविद्यालयों से चार साल की बीएससी एग्रीकल्चर की डिग्री दी जाती है, जो सामान्य स्नातक के समकक्ष है। लेकिन अब यह इंजीनियरिंग, मेडिकल और एमबीए की तरह प्रोफेशनल डिग्री मानी जाएगी। इस कारण नए कोर्स में कई बदलाव भी किए गए हैं। अंतिम वर्ष में प्रायोगिक कार्यक्रम स्टूडेंट रेडी भी चलाया जाएगा। बीएयू सबौर के पीएचडी के छात्र नीरज ने बताया कि इसका लाभ भविष्य में छात्रों को मिलेगा।

किनको मिलेगा फायदा
इस कोर्स से देश भर के 3 केन्द्रीय और 67 राज्यस्तरीय विश्वविद्यालयों के छात्रों को लाभ मिलेगा। बीएयू के डॉ. वीबी पटेल ने कहा कि इसमें बीएससी एग्रीकल्चर, फॉरेस्ट्री, सेरिकल्चर, बायोटेक, फिशरीज, हॉर्टीकल्चर, डेयरी टेक्नोलॉजी आदि चार साल के कोर्स के छात्रों को अब प्रोफेशनल डिग्री दी जाएगी। 

ज्यादा मिलेगा फेलोशिप 
डिपार्टमेंट ऑफ बायोटेक्नोलॉजी सहित अन्य संस्था द्वारा प्रोफेशनल डिग्री के छात्रों को पहले की अपेक्षा ज्यादा फेलोशिप मिलेगा। निजी कंपनियों में इन छात्रों की पूछ होगी।

एसबीआई के शाखा प्रबंधक ओपी तिवारी ने कहा कि प्रोफेशनल कोर्स करने के लिए छात्रों को आसानी से और चिह्नित कैंपस में ही ऋण दे दिया जाता है। छात्रों को बैंक आने की भी आवश्यकता नहीं होती है। इसमें सामान्य एकेडमिक डिग्री की अपेक्षा प्रोफेशनल कोर्स हो जाने से ढाई फीसदी तक कम ब्याज पर पढ़ाई के लिए ऋण मिलेगा।

कुलपति ने कहा 
प्रोफेशनल डिग्री दिए जाने के निर्णय से अब कृषि और इससे संबंधित विषयों में पढ़ाई के लिए न सिर्फ छात्रों का झुकाव बढ़ेगा बल्कि अभिभावक भी रुचि लेंगे। इन्हें पहले की अपेक्षा फेलोशिप भी बढ़कर मिलेगा।
प्रो. एके सिंह, कुलपति, बीएयू