DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विक्रमशिला व गरीब रथ में पुरानी बैट्री से चलता है एसी

विक्रमशिला व गरीब रथ में पुरानी बैट्री से चलता है एसी

ट्रेनों के एसी कोच में बैट्री चलते-चलते डिस्चार्ज हो जाती है। इसका मूल कारण है कि कोच में पुरानी बैट्री का होना। बैट्री ठीक से चार्ज नहीं हो पाता है। ट्रेनों की लेटलतीफी से परेशानी बढ़ जाती है। रास्ते में कई घंटे तक ट्रेनें खड़ी रहती हैं। नतीजा यह होता है कि 15-20 मिनट में ही पुरानी बैट्री डाउन होने लगती है। सनद रहे कि भागलपुर रेलखंड पर विक्रमशिला और गरीब रथ एक्सप्रेस ऐसी ट्रेनें हैं जो घंटों लेट चलती हैं।
जानकार बताते हैं कि बैट्री के ठीक से चार्ज नहीं होने पर मशीन चलाने से उसमें खराबी आ जाती है। भागलपुर वर्कशॉप को कोच के हिसाब से जितनी बैट्री मिलनी चाहिए उससे आधी भी आपूर्ति नहीं होती है। इसके कारण कोच में पुरानी बैट्री ही खपायी जाती हैं।

एसी कोचों में लगातार आ रही शिकायतों के मद्देनजर डीआरएम ने व्यवस्था ठीक करने के लिए चार्जिग सिस्टम को दुरुस्त करने का निर्देश दिया है। उन्होंने बताया कि बैट्री पूरी तरह चार्ज हो, इसके लिए इलेक्ट्रीक इंजीनियर को निर्देश दिया गया है। अब प्लेटफार्म पर भी चार्जिंग यूनिट बनाकर एसी कोच की बैट्री को चार्ज किया जाएगा ताकि खड़ी ट्रेनों में एसी ठीक से चले। उन्होंने बताया कि एसी की स्थिति को ठीक करने के लिए यार्ड में भी तत्परता के साथ बैट्री को चार्ज करने का निर्देश दिया गया है और कोच में अतिरिक्त यात्रियों के प्रवेश को रोकने के लिए कॉमर्सियल सेक्शन के पदाधिकारियों को निर्देश दिया गया है। 

डीआरएम ने बताया कि प्लेटफार्म पर वैसी ट्रेनों के एसी कोच में चार्जिग की जाएगी जो भागलपुर होकर गुजरती है। हालांकि इसके लिए जरूरी होगा कि ट्रेन कम से कम आधा घंटा तक स्टेशन पर रुकती हो। ट्रेनों में लगे एसी की बैट्री रनिंग ट्रेन में डायनमो सिस्टम से चार्ज होती है। लिहाजा जब ट्रेन रास्ते में कहीं ज्यादा देर तक खड़ी हो जाती है तो बैट्री डिस्चार्ज होने लगती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:VIKRAMSHILA and the old battery runs AC Garib Rath