DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जर्जर ट्रांसफार्मरों के भरोसे शहर की बत्ती

जर्जर ट्रांसफार्मरों के भरोसे शहर की बत्ती

शहर की बिजली व्यवस्था जर्जर और पुराने ट्रांसफार्मर के भरोसे है। ये थोड़े अधिक लोड को भी झेल नहीं पाते हैं और जल जाते हैं। भागलपुर में 3000 ट्रांसफार्मर लगे हैं। इनमें से 330 ही बदले गए हैं। 70 की क्षमता बढ़ाई गई है।

शहर के ज्यादातर ट्रांसफार्मर दस से 12 साल पुराने हैं। कई से तेल का रिसाव हो रहा तो कुछ पर क्षमता से अधिक लोड हैं। गर्मी बढ़ने या बारिश हो जाने के कारण ट्रांसफार्मर तुरंत जल जाते हैं। शहर के प्रमुख इलाकों-खलीफाबाग चौक, मुंदीचक, इशाकचक, सिकंदरपुर और नाथनगर में लगे ट्रांसफार्मर रामभरोसे हैं। इन इलाकों से आए दिन ट्रांसफार्मर के जलने की शिकायत आती है। मुंदीचक के रणधीर कुमार ने बताया कि ट्रांसफार्मर हर दस से 15 दिन में जल जाता है। इससे तेल का रिसाव भी होता रहता है।
 
हमलोगों ने कई बार नया ट्रांसफार्मर लगाने की बात की लेकिन कुछ नहीं हुआ। सिकंदरपुर के वार्ड पार्षद दीपक ने बताया कि इलाके की आबादी दस हजार है लेकिन ट्रांसफार्मर 200 केवीए का है। जिससे घरों में लो वोल्टेज की समस्या होती है। नाथनगर के दिनेश भगत ने बताया कि टमटम पड़ाव के पास लगा ट्रांसफार्मर दस साल पुराना है। आए दिन जल जाता है। 

सूत्र बताते हैं कि ट्रांसफार्मर के जलने की मुख्य वजह मेंटनेंस में कमी और फ्यूज वायर का नहीं होना है। अधिकतर ट्रांसफार्मर में फ्यूज वायर की जगह तार बांध दिए गए हैं जिससे ट्रिपिंग होते ही ट्रांसफार्मर जल जाते हैं। अगर फ्यूज वायर बांधा जाए तो फ्यूज उड़ जाएगा ट्रांसफार्मर पर असर नहीं होगा। ट्रांसफार्मरों में तेल ठीक नहीं डालने पर भी असर पड़ता है।

हाल के दिनों में बिजली कंपनी की लापरवाही से ट्रांसफार्मरों के जलने में वृद्धि हुई है। मुख्य सचिव ने निर्देश दिया था कि संचरण टांसफार्मर पर काफी ध्यान दिया जाए और उसके जलने को रोकने लिए हर संभव कोशिश की जाए। अगर ट्रांसफार्मर जल भी जाए तो उसे 24 घंटे में बदल दिया जाए। लेकिन काम में थोड़ी ढिलाई चल रही है।
जीकेएस परमार, अधीक्षण अभियंता, सबौर ग्रिड

ट्रांसफार्मरों के जलने का कारण अवैध रूप से टोका फंसाना है। अधिकतर जगहों पर लोग टोका फंसा कर बिजली जलाते हैं जिससे ट्रांसफार्मर पर लोड बढ़ जाता है। जहां-जहां ट्रांसफार्मर जलने की शिकायत आती है वहां तुरंत बदला जाता है।
अमित रंजन, पीआर हेड, बीईडीसीपीएल

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:The city's light-worn hands of Transformers