DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पूर्णिया के कब्रों में मुर्दे भी नहीं रहे महफूज

पूर्णिया के कब्रों में मुर्दे भी नहीं रहे महफूज

पूर्णिया के कब्रों में मुर्दे भी महफूज नहीं हैं। मुर्दों के सौदागर जिले के कब्रगाहों को निशाना बना रहे हैं। कब्र खोद लाश चोरी करने का सिलसिला यहां दो साल से चल रहा है। इस दौरान अलग-अलग कब्रों से सैकड़ों लाशें गायब हो चुकी हैं। फिलहाल इस मामले में प्रशासन के अधिकारी खामोश हैं। छानबीन की कोई पहल अभी तक नहीं हो सकी है।

कब्र से लाशें गायब होने का ताजा मामला शहर से सटे ललयछौनी कब्रगाह का है। यहां से अब तक 15 लाशें कब्र खोदकर निकाल ली गईं हैं। कुछ माह पूर्व एक छात्र की लाश दफनायी गई थी, जो गायब है। मामले की जानकारी तब हुई, जब मंगलवार सुबह बगल की आदिवासी बस्ती के बच्चे कब्रगाह की ओर गये तो कब्र खुदा हुआ नजर आया। बच्चों ने बस्ती में लोगों को इसकी जानकारी दी तो कई लोग वहां पहुंचे। इसके बाद वहां ऐसे 15 कब्र मिले, जिसमें लाशें गायब थी। हालांकि ये कब्र हाल के खोदे हुए नहीं दिख रहे। बस्ती वाले बताते हैं कि कई कब्रों से लाशें गायब हैं। बस्ती में बच्चों का स्कूल चलाने वाले रोहित कुणाल बताते हैं कि यह उनके लिए रहस्य का भी विषय है कि आखिर कौन लोग लाशों की चोरी करते हैं और इससे उन्हें क्या फायदा है। बस्ती के ही अजीत, निर्मल और गुल्लू बताते हैं कि रात के समय अक्सर कुछ लोगों की आवाजाही होती है और कुत्तों के भौंकने की आवाज भी आती है। बस्ती के लोगों ने आशंका जतायी कि वही लोग लाशों के चोर हो सकते हैं। पुलिस अधीक्षक निशांत कुमार तिवारी ने कहा कि सूचना मिलते ही जांच करायी गयी है। पहली नजर में लाश गायब करने का मामला प्रतीत नहीं होता। कहीं कोई नया गड्ढा नहीं है। जिस गड्ढे की बात बतायी जा रही है, वह पुराना है और उसमें घास और झाडियां उग गई हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Purnia dead in the tombs are not even safe