DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पटना विश्वविद्यालय के कई डिप्लोमा कोर्सों में जीरो सेशन का खतरा

पटना विश्वविद्यालय के कई डिप्लोमा कोर्सों में जीरो सेशन का खतरा

पटना विश्वविद्यालय के पीजी स्तर के कई डिप्लोमा और डिग्री कोर्सों में निर्धारित सीटों से कम आवेदन फॉर्मो की बिक्री हुई है। जिन कोर्सों में निर्धारित से कम आवेदन आए हैं उनमें जीरो सेशन लगने का खतरा मंडरा रहा है। आवेदन करने की अंतिम तिथि 15 जून है।
 
वीमेंस स्टडी: डिप्लोमा में 10 और डिग्री में 15 फॉर्म बिके हैं। दोनों कोर्सों में 60-60 सीटें हैं। नियम के अनुसार, जिस कोर्स में निर्धारित से 50 फीसदी सीटों पर दाखिला नहीं होता है तो कोर्स नहीं चलाना है। इसमें जीरो सेशन लग जाएगा।

पीजी डिप्लोमा इन हिन्दी जर्नलिज्म एंड मास कम्यूनिकेशन: सिर्फ आठ फॉर्म बिके हैं। तीन दिन बाकी हैं। पिछले साल भी 12 छात्रों का दाखिला होने के बाद कोर्स चलाया गया था जो नियम विरुद्ध था। डिग्री कोर्स में 48 फॉर्मों की बिक्री हुई है। इसमें सीट 40 है।
 
ह्यूमन रिसोर्सेज:
पीजी मनोविज्ञान विभाग के तहत चलने वाले पीजी डिप्लोमा इन ह्यूमन रिसोर्सेज में सिर्फ 16 फॉर्मो की बिक्री हुई है। इममें सीटों की संख्या 50 है। पिछले साल सिर्फ पांच छात्रों का दाखिला हुआ था।

मगध महिला में भी कम बिके फॉर्म: मगध महिला कॉलेज में बीएसडब्ल्यू में 60 सीटें हैं। इसमें सिर्फ 12 फॉर्म बिके हैं। पीजीडीसीए में सिर्फ 13 फॉर्म बिका है, जबकि सीट 40 हैं। इस तरह पीजी डिप्लोमा इन वीमेंस एंड चाइल्ड वेलफेयर में 20 फॉर्म बिके हैं, जबकि सीटें 50 हैं। वहीं हर्बल केमेस्ट्री में 20 सीटें हैं जबकि सिर्फ पांच फॉर्म बिके हैं।

पहले भी लग चुका है जीरो सेशन: पटना कॉलेज के भूगोल विभाग के अंतर्गत चलनेवाले पीजी डिप्लोमा इन रिमोट सेंसिंग इन जीआईएस कोर्स में लंबे समय से जीरो सेशन लगा हुआ है। इस कोर्स में सिर्फ एकबार ही दाखिला हो सका था। इसी तरह से एप्लाइड इकोनॉमिक्स एंड कॉमर्स विभाग के एमएफसी कोर्स में दो साल से जीरो सेशन लगा हुआ है। बीलिब कोर्स में पिछले साल दाखिला नहीं हो सका था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Patna University diploma courses op zero risk