DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सीख: नालंदा में चंदा जमा कर तटबंध बना रहे ग्रामीण

सीख: नालंदा में चंदा जमा कर तटबंध बना रहे ग्रामीण

जनप्रतिनिधियों की उदासीनता व प्रशासन की निष्क्रियता के चलते किसानों ने खून-पसीने की कमाई बेचकर डेढ़ लाख चंदा जुटाया व तटबंध की मरम्मत में जुट गए। बरसात शुरू होने से पहले ही माहो गांव के किसान अपने खेतों की सुरक्षा में लग गये हैं ताकि बाढ़ आने की स्थिति में फसल बर्बाद नहीं हो सके। इसके लिए किसानों ने गांव में चंदा करके जेसीबी मशीन से गांव के तटबंध की मरम्मत शुरू करा दी है। पिछले साल आयी विनाशकारी बाढ़ ने कई हेक्टेयर में लगी धान की फसल बर्बाद कर दी थी। इससे सबक लेते हुए माहो गांव के ग्रामीण एवं किसान अर्थदान कर चिरैया नदी के किनारे तटबंध की मरम्मत के लिए मिट्टी भरवा रहे हैं।

ग्रामीणों ने बताया कि तटबंध को भरवाने के लिए कई बार मुखिया से लेकर प्रशासन व जनप्रतिनिधियों तक गुहार लगायी लेकिन किसी ने ध्यान नहीं दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Learning: Making embankment to raise funds in Nalanda rural