DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिहार चुनाव: नए गठबंधनों से बदलेंगे जीत-हार के समीकरण

बिहार चुनाव: नए गठबंधनों से बदलेंगे जीत-हार के समीकरण

बेगूसराय जिले में कुल सात विधानसभा सीट हैं। इनमें बखरी विधानसभा सीट आरक्षित कोटे में है। 2010 में हुए विधानसभा चुनाव में तत्काल के एनडीए ने छह सीटों पर जीत दर्ज की थी। एक सीट पर भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी ने कब्जा जमाया था।

2014 में तत्कालीन काबीना मंत्री जदयू की परवीन अमानुल्लाह ने साहेबपुरकमाल सीट से इस्तीफा दे दिया था। इस सीट पर हुए उपचुनाव में राष्ट्रीय जनता दल के नेता व पूर्व मंत्री श्रीनारायण यादव अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी जनता दल यू की शबनम परवीन को पराजित कर विधायक बने। इस बार परिस्थिति अलग है। जो दल पिछली बार एक साथ चुनाव लड़े थे, इस बार वे एक दूसरे के खिलाफ ताल ठोंक रहे हैं। मसलन पिछले विधानसभा चुनाव में भाजपा-जदयू एक साथ और राजद-लोजपा एक साथ थे। कांग्रेस बिना गठबंधन के चुनाव लड़ी थी। इस बार नए गठबंधन और महागठबंधन के आकार लेने की प्रक्रिया शुरू है। एनडीए में भाजपा के साथ लोजपा और रालोसपा जुड़ गई है। वहीं महागठबंधन में राजद-जदयू और कांग्रेस के एक साथ चुनाव लड़ने की चर्चा चरम पर है। ऐसे में इस बार के विधानसभा चुनाव में नए गठबंधन की भूमिका हार-जीत को तय करने में बढ़ जाएगी।

हालांकि यह बात अलग है कि भाजपा-जदयू गठबंधन अब भी अधिकतर मतदाताओं की पहली पसंद हैं, जबकि महागठबंधन को लेकर जदयू और राजद के आधार वोटरों में असहजता दिख रही है।

इन सबों के बीच जिले में तीसरी राजनीतिक शक्ति के रूप में वामपंथी दलों का असर अब भी कायम है। इनका सभी सीटों पर 20-30 हजार काडर वोटर हैं। खासकर तेघड़स, बखरी, बेगूसराय, मटिहानी और बछवाड़ा सीटों पर इनका दबदबा रहा है। इनमें बछवाड़ा सीट पर फिलहाल इनका ही कब्जा है। पिछले विधानसभा चुनाव में तेघड़ा सीट पर 52 वर्षों में पहली बार इस पार्टी को हार का सामना करना पड़ा था। इस सीट पर भाकपा दूसरे स्थान पर रही थी।

वहीं बखरी सीट पर भाकपा तत्कालीन विधायक के पार्टी छोड़ने के बावजूद कुछ मतों के अंतर से तीसरे स्थान पर रही थी। बेगूसराय सीट पर माकपा तीसरे स्थान पर रही थी। हालांकि इससे इतर यदि 90 के दशक की राजनीतिक स्थिति को आज की पृष्ठभूमि में देखें तो पलड़ा महागठबंधन का भारी होता नजर आता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Bihar polls: Will the new alliances win-loss equation