सत्ता नहीं व्यवस्था परिवर्तन चाहता है नौजवान: वरूण गांधी - सत्ता नहीं व्यवस्था परिवर्तन चाहता है नौजवान : वरूण गांधी DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सत्ता नहीं व्यवस्था परिवर्तन चाहता है नौजवान : वरूण गांधी

सत्ता नहीं व्यवस्था परिवर्तन चाहता है नौजवान : वरूण गांधी

राष्ट्र के नवनिर्माण में युवाओं की भूमिका पर संवाद कार्यक्रम में शामिल हुए सांसद वरूण गांधी ने मानपुर में आयोजित संवाद में सामाजिक उद्यमियता पर दिया जोर दिया। प्रधान संवाददाता सांसद वरूण गांधी ने कहा कि नौजवान सत्ता में नहीं व्यवस्था में परिवर्तन चाहता है।

देश में जनक्रांति और अधिकार क्रांति होनी चाहिए। वरूण रविवार को गया के मानपुर के जगजीवन कॉलेज में राष्ट्र नवनिर्माण में युवाओं की भूमिका पर आयोजित संवाद में बोल रहे थे। युवाओं में उत्साह भरने और जनक्रांति का असर बताने के लिए उन्होंने देश के विभिन्न हिस्सों में अकेले व्यक्ति के आंदोलन और उसके सफल परिणाम का उदाहरण दिया। बताया देश में जनक्रांति का विराट इतिहास रहा है। हर क्रांति में युवा जुड़ा है।

गया के दशरथ मांझी का उदाहरण देते हुए उन्होंने व्यक्ति की शक्ति की बात कही। वरूण ने कहा कि बिहार से 50 लाख युवा हर साल पलायन करते हैं। यूपी, एमपी का यही हाल है। कृषि पर निर्भरता नहीं है। कहा जाता है कि गांवों में 24 घंटे बिजली दी जा रही है। लेकिन, किसी भी गांव में 50 फीसदी से ज्यादा बिजली नहीं मिल रही। उन्होंने सामाजिक उद्यमियता पर जोर दिया। कहा एक व्यक्ति अगर मन में ठान ले तो कुछ भी असंभव नहीं है।

दिल्ली में एसी कमरे में रहने वाले गया, औरंगाबाद और जहानाबाद के लिए प्लान तैयार करते हैं। जिन्हे तालाब, जंगल, पेड़ और फसल की जानकारी नहीं है। हमें बदलाव में लोगों को शामिल करना है। अच्छा इंसान वहीं है जो दूसरों के सपनों के बारे में सोचता है। शेर वो है जो जंगल की रक्षा करते हुए आगे बढ़े। बड़ा सपना देखना और हर आंसू अपने हाथ से पोछना हमारा काम होना चाहिए। वरूण गांधी को सुनने के लिए बड़ी संख्या में भीड़ जुटी थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सत्ता नहीं व्यवस्था परिवर्तन चाहता है नौजवान: वरूण गांधी