DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चंद महीनों का मेहमान है नीतीश सरकार: मांझी

चंद महीनों का मेहमान है नीतीश सरकार: मांझी

पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने कहा कि चंद महीनों का मेहमान है नीतीश की सरकार। आगामी विधान सभा चुनाव में महागठबंधन का सुपड़ा साफ हो जाएगा। उन्होंने कहा कि राजाबाजार की समस्या दूर करने के लिए एक करोड़ की राशि आवंटित की थी। लेकिन नीतीश कुमार की सरकार ने इसे ठंडे वस्ते में डाल दिया। मगध के विकास के लिए कई योजनाएं ली गई थी। लेकिन उस पर अमल नहीं हो रहा है। विकास योजनाओं को पूरा करने के लिए ही वे भाजपा के साथ गए हैं।

श्री मांझी ने कहा कि आगामी चुनाव में एनडीए की सरकार बनेगी। सूबे की जनता नीतीश को पहचान चुकी है। इनका चेहरा जनता के सामने उजागर हो गया है। सत्ता से चिपकने के लिए ही श्री कुमार ने लालू के साथ हाथ मिलाया है। उन्होंने कहा कि राजाबाजार की समस्या काफी भयावह है। लोगों की मांग जायज है। अंडरपास में पानी जमा रहने के अलावा शहर की ड्रेनेज सिस्टम ध्वस्त रहने के कारण शहरवासी पूरी तरह परेशान हैं।

मांझी सोमवार को जलजमाव की समस्या को लेकर विभिन्न मोहल्लों के लोगों द्वारा निकाले गए विरोध मार्च में शामिल हुए। मांझी सोमवार को पटना से गया जा रहे थे। तभी उन्हें जानकारी मिली की शहर के लोग जलजमाव की समस्या को लेकर आंदोलन कर रहे हैं। उन्होंने अस्पताल मोड़ के समीप वाहन रोक दी और प्रतिरोध मार्च में शामिल हो गए।

बतीस भंवरिया मोड़ के समीप आंदोलन में शामिल लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि आप के जनभावनाओं के साथ हैं। समस्या को दूर करने के लिए केन्द्र सरकार से सहयोग लेंगे। मांझी ने यह भी कहा कि मगध के विकास के लिए नीतीश सरकार ने कोई पहल नहीं की है। जब सीएम बने तो मगध के विकास के लिए पूरी ताकत झोंकी। लेकिन एक साजिश के तहत उन्हें सीएम पद से हटा दिया गया। मेरे द्वारा ली गई जनकल्याणकारी योजनाओं को रद्द कर दिया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:चंद महीनों का मेहमान है नीतीश सरकार: मांझी