DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिहार की जनता नीतीश से मुक्ति चाहती है: रामकृपाल

बिहार की जनता नीतीश से मुक्ति चाहती है: रामकृपाल

सत्ता का लोभ नीतीश को सता रही है, इसलिए उन्होंने राजद के साथ गठबंधन किया है। वे सत्ता के भूखे हैं, यही कारण है कि एक मंच पर झूठा गठबंधन बनाकर सत्ता प्राप्त करना चाहते हैं। ये बातें केन्द्रीय राज्य मंत्री रामकृपाल यादव ने रविवार को अकबरपुर संगत परिसर में आयोजित हसुआ विधान सभा कार्यकर्ता सम्मेलन में कहीं।

रामकृपाल ने नीतीश पर कटाक्ष करते हुए कहा कि वे स्वार्थी हैं। उन्होंने कहा कि नीतीश के शासन काल में बिहार में भ्रष्टाचार, हत्या, लूट व अपहरण की घटनाएं सिर चढ़कर बोल रही हैं। विकास कार्य ठप हुआ है। विकास के नाम पर लूट हो रही है। जनता अशांत है। अब जनता नीतीश से मुक्ति चाहती है। उन्होंने कहा कि जिस आशा और विश्वास के साथ जनता ने उन्हें मुख्यमंत्री बनाया, उनका सपना साकार नहीं हुआ। ऐसी परिस्थिति में बिहार की जनता बदलाव चाहती है।
 
उन्होंने कहा कि राजद जंगलराज का प्रतीक है तो कांग्रेस भ्रष्टाचार की जननी है। भाजपा बिहार में ऐसी सरकार बनाने नहीं देगी। नीतीश ने जनता को जात-पात में विभक्त कर दिया है। उन्होंने कहा कि नीतीश और लालू के बीच अधिक दिनों तक दोस्ती नहीं चलेगी।

हिसुआ विधायक अनिल सिंह ने कहा कि केन्द्र सरकार ने न केवल देश बल्कि विश्व को जोड़ने का काम किया है। विदेशों के साथ भारत के संबंध अच्छे हुए हैं। बिहार में नीतीश और लालू मिलकर भाजपा को रोकना चाहते हैं। बिहार की जनता बिहार में जंगलराज कायम होने नहीं देगी। आगामी विधान सभा चुनाव में जनता नीतीश और लालू को सबक सिखायेगी।

सम्मेलन को जिला भाजपा के पूर्व अध्यक्ष केदार सिंह, सतीश कुमार सिन्हा, हसुआ प्रमुख रंजन शही, पूर्व मुखिया विरेन्द्र पासवान, पूर्व मुखिया विनोद कुमार राकेश, नवादा जिला प्रभारी अनिल श्र्मा, मुखिया डा. सुरेश चौधरी, उदय यादव, अर्जुन प्रसाद यादव, मेराज खां आदि ने भी संबोधित किया। कार्यकम्र की अध्यक्षता अजय कुमार भोला ने की और मंच संचालन सुनील सिंह ने किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बिहार की जनता नीतीश से मुक्ति चाहती है: रामकृपाल