educational qualification of ministers of nitish kumar cabinet - नीतीश सरकार में 7 मंत्री मास्टर्स, 9 बीए पास, तो 12 गए स्कूल DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नीतीश सरकार में 7 मंत्री मास्टर्स, 9 बीए पास, तो 12 गए स्कूल

नीतीश सरकार में 7 मंत्री मास्टर्स, 9 बीए पास, तो 12 गए स्कूल

बिहार में नवगठित नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली सरकार में लालू प्रसाद यादव के दोनों बेटे ही युवा मंत्री हैं बाकि 26 मंत्रियों की उम्र 40 वर्ष से अधिक है। 28 मंत्रियों में से 19 ऐसे हैं, जिनको पहली बार मंत्री बनाया गया है।

64 वर्षीय सीएम नीतीश कुमार के मंत्रिमंडल की औसत उम्र 52 वर्ष है। अगर इसमें शामिल मंत्रियों की शिक्षा की बात की जाए तो सीएम नीतीश इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग से ग्रेजुएट हैं। 7 मंत्रियों के पास एमए की डिग्री है, 9 बीए पास हैं जबकि 12 स्कूल गए हैं।

आइए एक नजर डालते हैं नीतीश कैबिनेट पर-

1- जयकुमार सिंहः 46 वर्षीय जयकुमार सिंह उद्योग और विज्ञान एवं तकनीक मंत्री हैं। वे सिविल इंजीनियरिंग से ग्रेजुएट हैं।

2- रामविचार रायः साहेबगंज के 60 वर्षीय राजद विधायक राय के पास कृषि मंत्रालय की कमान है। वह 10वीं तक पढे़ हैं।

3- चंद्रशेखरः आपदा प्रबंधन मंत्रालय की कमान संभालने वाले 53 वर्षीय चंद्रशेखर मधेपुरा से राजद विधायक हैं। उनके पास एमएससी की डिग्री है।

4- कुमारी मंजू वर्माः सामाजिक कल्याण मंत्री मंजू वर्मा 8वीं तक पढ़ी हुई हैं। वह चेरिया बरियारपुर से जदयू की विधायक हैं।

5- शिवचंद्र रामः 44 वर्षीय शिवचंद्र के पास कला, संस्कृति और युवा मामलों के मंत्रालय की कमान है। वह बीए पास हैं।

6- महेश्वर हजारीः नगर विकास एवं आवास मंत्रालय का जिम्मा 46 वर्षीय महेश्वर हजारी को मिला है। वे 7वीं तक पढे़ हुए हैं। जदयू विधायक हजारी ने रामचंद्र पासवान के बेटे प्रिंस राज को कल्याणपुर सीट पर हराया।

7- शैलेश कुमारः 52 वर्षीय शैलेश कुमार के पास ग्रामीण कार्यों के मंत्रालय की कमान है। इनके पास एमए की डिग्री है।

8- अब्दुल जलील मस्तानः पंजीकरण और एक्साइज मंत्रालय का जिम्मा 57 वर्षीय मस्तान को मिला है। वह अमौर से कांग्रेस विधायक हैं और कामर्स से 12वीं पास हैं।

9- मदन मोहन झाः 56 वर्षीय राजस्व एवं भूमि सुधार मंत्री झा कांग्रेस का ब्राह्मण चेहरा हैं। वह एमएससी और पीएचडी हैं। वह एमएलसी हैं।

10- तेज प्रताप यादवः लालू के बडे़ बेटे तेजस्वी के पास स्वास्थ्य मंत्रालय की कमान है और मंत्रिमंडल में उनका तीसरा स्थान है। वह महुआ से राजद विधायक हैं और वह 12वीं तक पढे़ हैं। उनके नाम से मोटरसाइकिल का एक शोरूम है।

11- विजय प्रकाशः 45 वर्षीय विजय प्रकाश एमए तक पढ़े हैं। लालू के विश्‍वास पात्र होने के कारण उनको मंत्री बनाया गया है। उनके पास श्रम संसाधन मंत्रालय है। वह जमुई से राजद विधायक हैं।

12- तेजस्वी प्रसाद यादवः लालू यादव के 26 वर्षीय छोटे बेटे तेजस्वी उप मुख्यमंत्री हैं और उनके पास सड़क मंत्रालय है। वह राघोपुर से राजद विधायक हैं और 9वीं तक पढे़ हैं।

13- लल्लन सिंहः 62 वर्षीय लल्लन सिंह राजीव रंजन सिंह के तौर पर भी जाने जाते हैं। वह जल संसाधन मंत्री हैं। वह बिहार जदयू के अध्यक्ष भी रह चुके हैं। वह फिलहाल एमएलसी हैं। वह भूमिहार हैं।

14- चंद्रिका रायः परिवहन मंत्रालय की कमान संभालने वाले 53 वर्षीय चंद्रिका राय राबड़ी सरकार में भी मंत्री थे। वह बिहार के पहले यादव सीएम दुर्गा राय के बेटे हैं। उन्होंने एमए तक पढ़ाई की है। परसा से वह राजद विधायक हैं।

15- अब्दुल बारी सिद्दीकीः 63 वर्षीय सिद्दीकी के पास वित्त मंत्रालय की कमान है। वह राजद का उदारवादी चेहरा हैं। वह 12वीं तक पढे़ हुए हैं।

16- अशोक कुमार चौधरीः बिहार कांग्रेस अध्यक्ष अशोक कुमार चौधरी एमएलसी हैं और उनके पास शिक्षा और सूचना प्रद्यौगिकी मंत्रालय है। बिहार कांग्रेस का वह दलित चेहरा हैं। उनके पास डॉक्टरेट की डिग्री है।

17- बिजेंद्र प्रसाद यादवः
यह नीतीश सरकार के वरिष्ठ मंत्रियों में से हैं। इनके पास ऊर्जा मंत्रालय की कमान है। वे 12वीं तक पढे़ हुए हैं। सुपैल से वह जदयू विधायक हैं। वह जेपी आंदोलन से जुड़े रहे हैं।

18- संतोष कुमार निरालाः संतोष कुमार राजपुर से जदयू विधायक हैं और उनके पास एससी एसटी कल्याण मंत्रालय की कमान है। वह बीए पास हैं।

19- अवधेश कुमार सिंहः इनके पास पशुधन मंत्रालय की कमान है। वह वजीरगंज से कांग्रेस विधायक हैं।

20- आलोक कुमार मेहताः आलोक कुमार कोऑपरेटिव मंत्री हैं। लालू परिवार के विश्वासपात्र हैं। उन्‍होंने तेजस्वी को राजनीतिक शिक्षा दी है। वह उजियारपुर से राजद विधायक हैं।

21- मुनेश्वर चौधरीः यह बिहार राजद के उपाध्यक्ष हैं। वह पांच बार से राजद के विधायक हैं।

22- मदन साहनीः इनको खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्रालय की कमान मिली है। जदयू विधायक बीए पास हैं।

23- फिरोज अहमदः इनको खुर्शीद के नाम से जाना जाता है। इनके पास गन्ना मंत्रालय है। वह सिक्ता से जदयू विधायक हैं। 10वीं तक पढे़ हुए हैं।

24- कृष्णानंद प्रसाद वर्माः वर्मा के पास बीए की डिग्री है। उनको कानून मंत्रालय की कमान है। वह घोषी से विधायक हैं।

25- कपिलदेव कामतः कामत जेपी आंदोलन से जुडे़ रहे हैं। वह पंचायतीराज मंत्री हैं। वे अपनी 10वीं की शिक्षा पूरी नहीं कर पाए।

26- अब्दुल गफूरः अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री गफूर एमए किए हुए हैं और उनके पास डॉक्टरेट की डिग्री है। वह चौथी बार विधायक बने हैं और लालू के करीबी माने जाते हैं।

27- अनीता देवीः पर्यटन मंत्री अनीता देवी 12वीं तक पढ़ी हुई हैं। वह नोखा से पहली बार विधायक बनी हैं।

28- श्रवण कुमारः इनके पास ग्रामीण विकास मंत्रालय के अलावा विधानसभा मामलों का भी कामकाज है। वह 12वीं तक पढ़़े हैं। वह नीतीश कुमार के करीबी माने जाते हैं। वह नालंदा से विधायक हैं।

मंत्रिमंडल में शामिल ये 8 चेहरे हैं दागी
बिहार इलेक्शन वॉच एवं एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) द्वारा जारी दागी विधायकों की सूची के अनुसार कुल 73 नव निर्वाचित विधायकों के खिलाफ मामले दर्ज हैं।

मंत्री बनने वाले विधायकों में बक्सर के राजपुर (सु) से निर्वाचित संतोष कुमार निराला (44 वर्ष) के खिलाफ दो, जमुई से निर्वाचित विजय प्रकाश (44 वर्ष) के खिलाफ तीन, मुजफ्फरपुर के साहेबगंज क्षेत्र से जीते रामविचार राय (60 वर्ष) के खिलाफ पांच, उजियारपुर के आलोक कुमार मेहता (46 वर्ष) के खिलाफ चार, छपरा के परसा क्षेत्र से जीते चंद्रिका राय ( 53 वर्ष) के खिलाफ तीन, वैशाली के महुआ से जीते तेजप्रताप यादव (25 वर्ष) के खिलाफ एक व राघोपुर से चुनाव जीते तेजस्वी यादव (26 वर्ष) के खिलाफ एक तथा राजापाकड़ (सु) से जीते शिवचंद्र राम (44 वर्ष) के खिलाफ एक मामला दर्ज है। इनके खिलाफ भारतीय दंड विधान की अलग-अलग धाराओं में मामले दर्ज हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:educational qualification of ministers of nitish kumar cabinet