DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एसएम कॉलेज में ब्यूटीशियन कोर्स को मिली अनुमति

एसएम कॉलेज में ब्यूटीशियन, फैशन डिजायनिंग, ईडीपी और स्पोकन इंग्लिश का कोर्स शुरू होगा। कॉलेज के इस प्रस्ताव को शुक्रवार को हुई एकेडमिक काउंसिल की बैठक में अनुमति दे दी गई। कुलपति डा. नलिनीकांत झा की अध्यक्षता में हुई बैठक में इस पर निर्णय लिया गया।

कॉलेज ने डिप्लोमा, व्यावसायिक और सर्टिफिकेट कोर्स के रूप में इनकी पढ़ाई का प्रस्ताव दिया था। विश्वविद्यालय में किसी भी तरह की होने वाली नियुक्ति के लिए विषय विशेषज्ञ का पैनल बनाने के लिए कुलपति को अधिकृत किया गया। नए कोर्स के संचालन और उसकी उपयोगिता देखने के लिए सभी विभागाध्यक्षों और अंगीभूत कॉलेज के प्राचार्यों की थिंक टैंक कमेटी भी बनाई गई। कमेटी च्वाइस बेस्ड क्रेडिट सिस्टम की उपयोगिता को भी परखेगी।

एसएसवी कॉलेज कहलगांव ने हिन्दी और इतिहास में पीजी की पढ़ाई शुरू करने का प्रस्ताव दिया था। इस पर सदस्यों ने यह कह कर आपत्ति की कि कॉलेज में पहले से ही शिक्षकों की कमी है। ऐसे में पीजी की पढ़ाई कैसे शुरू की जा सकती है। इस मामले को भी थिंक टैंक कमेटी को देखने की जिम्मेदारी दी गई।

दाखिले पर राजभवन से निर्देश

पीजी मैथिली और पीजी ग्रामीण अर्थशास्त्र विभाग में फिर से किसी भी विषय से स्नातक छात्रों को दाखिला लेने की अनुमति देने पर भी विचार किया गया। दोनों विभागों में पहले इस तरह के दाखिले होते थे। लेकिन बाद में इस पर रोक लगा दी गई थी। विश्वविद्यालय ने यह रोक हटाने से पहले राजभवन से निर्देश लेने का निर्णय किया। हालांकि यह भी तय हुआ कि अगर किसी भी विषय से स्नातक छात्र का दाखिला इन दोनों विभागों में हो तो संकाय का ध्यान रखा जाए। गृह विज्ञान विभाग में किसी विषय से स्नातक कर दाखिला लेने वाले छात्रों को पीजी करने पर एमएससी की डिग्री देने पर भी सहमित बनी।

हर तीन साल पर सिलेबस में संशोधन

भागलपुर विश्वविद्यालय में अब हर तीन साल पर स्नातक और स्नातकोत्तर के सिलेबस को संशोधित किया जाएगा। एकेडमिक काउंसिल की बैठक में इस मुद्दे को रखा गया था। बताया गया कि यूजीसी ने इस मामले में विश्वविद्यालय कोपत्र देकर निर्देश दिया था कि दोनों तरह के सिलेबस को तीन-तीन साल पर संशोधित किया जाए ताकि कोर्स में हो रहे बदलावों से सिलेबस को अद्यतन किया जा सके और छात्र वही पढ़ें जो प्रासंगिक है। इससे सभी विश्वविद्यालयों के सिलेबस में एकरूपता भी आ सकेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:sm college may run beautician course