अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वीसी से कहा, लॉ कॉलेज में नहीं होने देंगे स्नातक पार्ट-टू की परीक्षा

पार्ट-टू की परीक्षा शुरू होने से पहले ही इसका विरोध शुरू हो गया है। लॉ कॉलेज के छात्रों ने कहा है कि पार्ट-टू की परीक्षा के लिए लॉ कॉलेज में केन्द्र नहीं बनने दिया जाएगा। छात्र इसके लिए शुक्रवार को कुलपति डा. नलिनीकांत झा से मिले और अपनी बात रखी।

छात्रों का नेतृत्व कर रहे सौरभ झा ने बताया कि लॉ कॉलेज की लॉ फैकल्टी में केवल तीन शिक्षक हैं। इस वजह से कक्षाएं नियमित रूप से नहीं हो पाती हैं। इससे वह लोग पहले से ही परेशान रहते हैं। ऐसे में यहां स्नातक की परीक्षाओं का केन्द्र बना दिए जाने से कक्षाएं स्थगित कर दी जाती हैं और पढ़ाई बिल्कुल बंद हो जाती है। पार्ट-वन की परीक्षा के लिए लॉ कॉलेज में चार कॉलेजों का केन्द्र बनाया गया था और तब भी लॉ की कक्षाएं स्थगित कर दी गई थीं।

छात्रों की समस्या पर कुलपति ने विचार करने का आश्वास दिया। इधर, छात्रों ने बताया कि वे लोग परीक्षा नियंत्रक डा. अरुण कुमार सिंह से भी मिले। लेकिन उन्होंने कहा कि परीक्षा लॉ कॉलेज में ही होगी। छात्रों ने कहा क अगर ऐसा हुआ तो वह लोग परीक्षा नहीं होने देंगे। परीक्षा नियंत्रक ने कई कॉलेजों में बेंच-डेस्क की कमी के कारण लॉ कॉलेज को केन्द्र बनाने का बात कही।

तो बेकार है डेढ़ करोड़ का परीक्षा ब्लॉक

परीक्षा केन्द्र पर बवाल से दिनकर परिसर स्थित परीक्षा ब्लॉक पर सवाल खड़ा हो रहा है। एक करोड़ 48 लाख की लगात से यह ब्लॉक परीक्षाओं के संचालन के लिए ही बनाया गया है। लेकिन सालभर पहले बनकर तैयार हुए परीक्षा ब्लॉक में अब तक एक भी परीक्षा नहीं ली गई है। इसका कोई काम भी अब अधूरा नहीं है। विश्वविद्यालय अभियंता मो. हुसैन ने बताया कि परीक्षा ब्लॉक का काम पूरा हो चुका है। ऐसे में परीक्षा ब्लॉक में परीक्षा केन्द्र नहीं बनाए जाने के बारे में पूछने पर परीक्षा नियंत्रक ने कहा कि परीक्षा में छात्रों की बड़ी संख्या है। इतने छात्रों की परीक्षा का इंतजाम परीक्षा ब्लॉक में नहीं हो पाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:law students opposing center for other exams in their college