अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जो दीक्षा के समय ईश्वर का दर्शन करा दे, वही गुरु

जो दीक्षा के समय ईश्वर का दर्शन करा दे, वही गुरु

प्रखंड के जयप्रकाश महाविद्यालय में आयोजित पांच दिवसीय रामचरित मानस एवं गीता ज्ञान यज्ञ के अंतिम दिन शुक्रवार को कथावाचक साध्वी अमृता भारती ने कहा कि समस्त शास्त्र को ग्रंथ कहते हैं। गुरु की पहचान ही ब्रहमज्ञान है। जो गुरु दीक्षा के समय ईश्वर का दर्शन करा दे वही गुरु है। आज कुछ धर्म गुरु अनैतिकता और चरित्रहीनता के उदाहरण बने दिखते हैं। ऐसे में एक ईश्वर पिपासु किस गुरु के पास जाए, जहां उसकी श्रद्धा को ठगी न जाए। आज यदि श्रद्धाएं ठगी जा रही हैं तो इसका जिम्मेवार मैं स्वयं हूं। कथावाचक स्वामी धनंजयानंद जी भी गुरुओं पर कथा कही। प्रमुख प्रतिनिधि मंटू यादव एवं मुखिया नरेंद्र के द्वारा कथा का शुभारंभ किया। यज्ञ का आयोजन दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान ने किया।

देवी के दर्शन-पूजन को उमड़े भक्त

पीरपैंती। निज प्रतिनिधि

चैत्र नवरात्र को ले प्रखंड के विभिन्न मंदिरों में शुक्रवार को श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ पड़ी। मां दुर्गा की पूजा-अर्चना की। मनोकामना नाथ एवं बघुवा टोले में लोगों ने दर्शन-पूजन किये। जबकि योगिवीर पहाड़ी बाराहाट पर अष्टदश भुजाधारी मां दुर्गा के दर्शन कर लोगों ने महंत आचार्य माई महाराज से भी आशीर्वाद लिया। वे नवरात्र को ले खड़ी तपस्या कर रहे हैं। यहां दुर्गा सप्तशती के पाठ से माहौल पूरी तरह भक्तिमय हो गया है।

दो दिवसीय संतमत सत्संग का समापन

पीरपैंती। निज प्रतिनिधि

प्रखंड के दुलदुलिया में आयोजित दो दिवसीय संतमत सत्संग में हरिद्वार के महर्षि मेंहीं आश्रम से आये स्वामी सत्यानन्द जी महाराज ने कहा कि आज के युवा ही कल के भविष्य हैं। युवाओं को आध्यामिकता का भी ज्ञान जरूरी है। युवाओं को चाहिए कि वे गुरु की शरण में जाएं। क्योंकि गुरु ज्ञान देता है। सत्संग सिखाता है। अतः गुरु की महिमा महान है।

उन्होंने कहा कि युवाओं को दुर्व्यसनों से बचना चाहिए। उन्होंने पर्यावरण को शुद्ध करने के लिए तुलसी, पीपल, नीम आदि के पेड़ लगाने पर बल दिया तथा देशी नस्ल की गाय को पालने कहा। सत्संगी डॉ. परमानन्द साह, धीरेंद्र बाबा, शिवानन्द बाबा, दिनेश बाबा, वृदानन्द बाबा आदि ने भी प्रवचन किया। प्रवचन में बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुंचे थे। कार्यक्रम के आयोजन में संजय मंडल, पूर्व मुखिया भरत मंडल, सिकंदर मंडल आदि ने भरपूर सहयोग किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: The person who is presenting God at the time of initiation, the same master