अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बांका में बोलीं सेविका-सहायिका-अपनी बात कहने पर बरसती हैं लाठियां

अपनी मांगों को लेकर डटी आंगनबाड़ी सेविका-सहायिकाओं पर राज्य सरकार की ओर से लाठी चार्ज कराया गया। इतना ही नहीं कई कर्मियों को जेल में बंद भी किया गया। इसको लेकर शुक्रवार को बाल विकास परियोजना कार्यालय के समक्ष राज्य सरकार के खिलाफ सेविका-सहायिकाओं ने जमकर विरोध प्रदर्शन किया। प्रदर्शन कर रहीं कल्याणी सिंह, नीलम सिंह, रंजना देवी, तारा देवी, अर्चना दास, मंजू देवी, जानकी, दिवाकर सिंह, कपिल समेत अन्य ने अपनी आवाज बुलंद करते हुए कहा कि वे आंदोलन को तेज करेंगी।

चाहे सरकार कितनी भी उनपर अत्याचार कर ले। धरना-प्रदर्शन में राज्य सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। सबों ने एक स्वर में कहा कि यह आंदोलन तबतक जारी रहेगी, जबतक उनकी मांगें पूरी नहीं कर ली जाएंगी।

महिला विरोधी हैं सरकार की नीतियां :अमरपुर में बिहार आंगनबाड़ी कर्मचारी संघ की प्रदेश अध्यक्ष गीता कुमारी एवं करीब एक सौ सेविका की गिरफ्तारी के विरोध में प्रखंड की आंगनबाड़ी सेविकाओं ने प्रखंड मुख्यालय पर धरना दिया। धरना दे रहीं सेविकाओं ने मुख्यमंत्री एवं कल्याण मंत्री के खिलाफ नारेबाजी भी की। संघ की प्रखंड उपाध्यक्ष गुड्डी रानी ने बताया कि पिछले 27 मार्च से संघ द्वारा पटना में अनिश्चित कालीन धरना एवं प्रदर्शन किया जा रहा है।

इसमें बैठी सेविकाओं के उपर बर्बरता पूर्वक लाठी चार्ज करना तथा प्रदेश अध्यक्ष की गिरफ्तारी सरकार की महिला विरोधी नीतियों की निशानी है। धरना का नेतृत्व श्वेता कुमारी कर रहीं थीं। इस मौके पर मीरा कुमारी, सुजता कुमारी, शीला भारती, सोनी कुमारी झा, सावित्री कुमारी, मंजू कुमारी, लक्ष्मी देवी, सुलोचना देवी, फरहत परवीन उपस्थित थीं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Sticks are used to talk