अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सहरसा में नए कानून का वकीलों ने किया विरोध, प्रदर्शन

एडवोकेट एक्ट में परिवर्तन कर नए एडवोकेट विरोधी कानून बनाने के प्रस्ताव के विरोध में वकीलों ने विरोध प्रदर्शन किया। विधिज्ञ संघ के गेट पर वकीलों ने बिल के विरोध में काला बिल वापस लो के नारे लगाते विरोध जताया। बार काउंसिल ऑफ इंडिया के आह्वान पर विधिज्ञ संघ के अध्यक्ष मनोज सिंह एवं सचिव सुदेश कुमार सिंह के नेतृत्व में अधिवक्ताओं ने विरोध प्रदर्शन किया।

वकीलों का कहना था लॉ कमीशन द्वारा केंद्र सरकार को भेजे गए एडवोकेट एक्ट 2017 उनके विरोध में बनाया गया है। इस एक्ट के प्रस्ताव का विरोध करने पर दिल्ली के छह हजार वकीलों पर प्रतिबंध व जुर्माना लगाने के विरोध में देशव्यापी विरोध प्रदर्शन किया गया। प्रस्तावित संशोधित एडवोकेट एक्ट में न्यायिक पदाधिकारी या मुवक्किल किसी भी अधिवक्ता के व्यवहार को असंवैधानिक, अमर्यादित करार दे सकते हैं। इसके लिए उन्हें ऐसे लोगों के समक्ष अनुशासनिक कार्रवाई करने का सामना करना होगा जिनका न्यायिक प्रक्रिया से दूर-दूर तक कोई सरोकार नहीं है।

विधि व्यवस्था और विधि शिक्षा पर ऐसे लोगों का नियंत्रण होगा जिन्हें न तो विधि व्यवसाय और न ही विधि शिक्षा का कोई ज्ञान है। विरोध प्रदर्शन में अधिवक्ता अमरनाथ राजू, परमेश्वरी मेहता, मदन प्रसाद, कौशल किशोर राय, मुरली मनोहर चौधरी, विलास चौधरी, राजीव पांडेय, मोहन झा, रजनी अस्थाना, अजीत चौधरी, त्रिलोक मिश्रा, अशोक कुमार, शंकर सिंह, ब्रजेश कुमार कंठ, मनोज झा, सदानंद यादव, अमरेन्द्र त्रिवेदी सहित अन्य अधिवक्ता शामिल हुए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: New law lawyers protest in saharsa