अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बांका में जुगाड़ गाड़ी चालकों पर भुखमरी का संकट

इंटक की मासिक बैठक शुक्रवार को जिलाध्यक्ष विनय कापरी की अध्यक्षता में शुक्रवार को जिला कार्यालय बांका में हुई। इसमें कई मुद्दों पर चर्चा की गई। मुख्य रूप से इंटक के सभी जुगाड़ गाड़ी मजदूर जिनके पास रोजगार के अवसर समाप्त हो जाने पर चर्चा की गई। जुगाड़ गाड़ी पर प्रतिबंध लगने की वजह से मजदूरों पर भुखमरी का संकट मंडराने लगा है।

जुगाड़ गाड़ी मजदूरों की समस्या का जल्द समाधान नहीं निकाला गया तो इंटक बड़े पैमाने पर धरना-प्रदर्शन करने का निर्णय लिया। साथ ही बांका में श्रमिक बाल विद्यालय खोलने का भी मांग किया। विद्यालय नहीं रहने की वजह से मजदूरों के बच्चे को पढ़ने में कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। श्रम संसाधन विभाग से 2014-16 तक कितने मजदूरों का निबंधन हुआ है, इसकी सूची प्रकाशित करने का मांग किया। साथ ही रिन्यूवल कार्ड वाले को अतिशीघ्र राशि भुगतान करने के लिए श्रम विभाग से आग्रह किया।

बैठक में मुख्य रूप से जागेश्वर पासवान, सचिव राहुलदेव सिंह, प्रखंड अध्यक्ष परमेश्वर यादवेन्दु, संजय कुमार, मनोज यादव, ननकू यादव, कारू दास, सुभाष ठाकुर, गोरेलाल यादव, अरुण कुमार मंडल, राजेश यादव, मनोज साह, निरंजन कुमार सिंह, पप्पू भारती, दिलीप मंडल, सुनील राउत, शिवशंकर पासवान सहित अन्य उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Hunger crisis on Jugaad gadi drivers