राज्यसभा में सात निलंबित सदस्यों को मार्शलों ने किया बाहर - राज्यसभा में सात निलंबित सदस्यों को मार्शलों ने किया बाहर DA Image
19 नबम्बर, 2019|11:34|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राज्यसभा में सात निलंबित सदस्यों को मार्शलों ने किया बाहर

राज्यसभा में अभूतपूर्व घटनाक्रम के तहत महिला आरक्षण बिल के खिलाफ हंगामा कर रहे सात निलंबित सदस्यों को सदन से बाहर करने के लिए मार्शलों की ताकत का इस्तेमाल किया गया। इसके विरोध स्वरूप सपा के कमाल अख्तर ने कांच का ग्लास तक तोड़ दिया और करीब आधे घंटे तक सदन में जबर्दस्त अफरा़-तफरी मची रही।

तीन बार के स्थगन के बाद जब उच्च सदन की बैठक शुरू हुई तो सातों निलंबित सदस्य आसन के समक्ष धरने पर ही मौजूद थे। इनमें सपा के कमाल अख्तर, आमिर आलम खान, वीरपाल सिंह और नंद किशोर यादव, जदयू के निलंबित सदस्य डा़ एजाज अली, राजद के सुभाष यादव तथा लेाजपा के साबिर अली शामिल हैं।

इन्हीं के साथ राजद के राजनीति प्रसाद और सपा के रामनारायण साहू भी आसन के समक्ष आकर विरोध व्यक्त करने लगे।

सभापति हामिद अंसारी ने इन सदस्यों से वापस चले जाने की कई बार अपील की। इसी बीच, उन्होंने संविधान 108वां संशोधन विधेयक पर चर्चा की घोषणा करते हुए विपक्ष के नेता अरुण जेटली का नाम पुकारा। जेटली अपने स्थान पर बोलने के लिये खड़े हुए लेकिन हंगामे के कारण वह अपनी बात शुरू नहीं कर पाये।

काफी समय तक सदन में हंगामा जारी रहने के बीच ही सभापति ने विधेयक पर मत विभाजन की घोषणा कर दी। इसके बाद उन्होंने लॉबी खाली करवाने का आदेश दिया।

सदन में उस समय 30 से ज्यादा मार्शल मौजूद थे। इन मार्शलों ने एक़़एक कर सातों निलंबित सदस्यों को जबर्दस्ती उठाकर सदन से बाहर कर दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:राज्यसभा में सात निलंबित सदस्यों को मार्शलों ने किया बाहर