कपिल देव आईसीसी हाल ऑफ फेम में शामिल - कपिल देव आईसीसी हाल ऑफ फेम में शामिल DA Image
9 दिसंबर, 2019|11:57|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कपिल देव आईसीसी हाल ऑफ फेम में शामिल

कपिल देव आईसीसी हाल ऑफ फेम में शामिल

भारत की विश्व चैंपियन टीम के कप्तान महान ऑलराउंडर कपिल देव को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद की हाल ऑफ फेम में शामिल किया गया।

आईसीसी अध्यक्ष डेविड मोर्गन ने क्रिकेट की सर्वोच्च संस्था के मुख्यालय में आयोजित समारोह में कपिल को स्मृति चिन्ह तौर पर कैप प्रदान की। इस अवसर पर वेस्टइंडीज के पूर्व कप्तान और हाल ऑफ फेम में शामिल क्लाइव लायड और आईसीसी के कई अधिकारी मौजूद थे।

हाल ऑफ फेम को फेडरेशन ऑफ इंटरनेशनल क्रिकेटर्स एसोसिएशंस (फिका) के सहयोग से चलाया जाता है। इसमें दुनिया के महान क्रिकेटरों को शामिल करके उन्हें सम्मानित किया जाता है।

कपिल ने कहा कि मैं आईसीसी हाल ऑफ फेम में शामिल होकर गौरवान्वित महसूस कर रहा हूं। मैं यह सोचकर रोमांचित हूं कि मुझे भारतीय क्रिकेट के महान खिलाड़ियों में से एक चुना गया। मुझे खुशी है कि इस खेल के कई महान खिलाड़ियों के साथ मेरा नाम भी चुना गया लेकिन जिस क्षण से मैंने क्रिकेट खेलनी शुरु की थी तब से मैंने हमेशा अगर किसी खिलाड़ी को प्रेरणा माना तो वह सुनील गावस्कर थे। अब क्लाइव लायड, रिचर्ड हैडली और वसीम अकरम जैसे इस खेल के महान खिलाड़ियों के साथ शामिल होना वास्तव में रोमांचित करता है।
 
6 जनवरी, 1959 को चंडीगढ़ में जन्में कपिल ने अपने 16 साल के क्रिकेट करियर में 131 टेस्ट मैच और 225 वनडे मैच खेलें। उन्होंने अपने वनडे करियर की शुरुआत पाकिस्तान के खिलाफ क्वेटा में 1978 में की थी जबकि इसके दो सप्ताह बाद इसी प्रतिद्वंद्वी के खिलाफ फैसलाबाद में उन्होंने पहला टेस्ट मैच खेला था।

कपिल को भारत का सर्वश्रेष्ठ तेज गेंदबाज माना जाता है। इसके अलावा वह बहुत अच्छे ऑलराउंडर भी थे। उन्होंने टेस्ट मैचों में 434 और वनडे में 253 विकेट लिए।वर्ष 1994 में उन्होंने रिचर्ड हैडली का रिकॉर्ड तोड़कर टेस्ट मैचों में सर्वाधिक विकेट लेने का रिकॉर्ड बनाया था। उनका यह रिकार्ड बाद में वेस्टइंडीज के कर्टनी वाल्स ने तोड़ा था।

इससे पहले 1988 में वह वेस्टइंडीज के जोएल गार्नर को पीछे छोड़कर वनडे क्रिकेट के सबसे सफल गेंदबाज बने थे। यह रिकॉर्ड उनके नाम पर 1994 तक रहा जिसे बाद में वसीम अकरम ने तोड़ा।

कपिल का टेस्ट मैचों में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 146 रन देकर 11 विकेट था जो उन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ 1980 में चेन्नई में किया था जबकि वनडे में उन्होंने विश्व कप 1983 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 43 रन देकर पांच विकेट लिए थे, जो उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है।

बल्लेबाजी में कपिल ने 31.05 की औसत से 5,248 टेस्ट रन बनाए हैं जिसमें आठ शतक और 27 अर्धशतक शामिल हैं। उन्होंने वनडे मैचों में 3,783 रन बनाए हैं।

कपिल को हाल ऑफ फेम कैप सौंपने वाले आईसीसी अध्यक्ष मोर्गन ने भी 1983 में भारत की विश्व कप विजेता टीम के कप्तान की जमकर तारीफ की। मोर्गन ने कहा कि कपिल सर्वकालिक महान खिलाड़ी हैं। वह बहुत अच्छे बल्लेबाज, गेंदबाज और फील्डर थे। मुझे 1983 विश्व कप फाइनल का वह बेहतरीन कैच याद है जिसे लेकर उन्होंने विव रिचर्ड्स को पैवेलियन भेजा था। उन्होंने लंबी दौड़ लगाऊ और गेंद उनके कंधों के उपर से जा रही थी ,जो सबसे मुश्किल कैच होता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कपिल देव आईसीसी हाल ऑफ फेम में शामिल