अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लिट्टे के आखिरी गढ़ में घुसी श्रीलंकाई सेना

श्रीलंकाई सेना रात भर चली भीषण झड़पों के बाद लिबरेशन टाइगर्स ऑफ तमिल ईलम (लिट्टे)के कब्जे वाले आखिरी कस्बे पुटुकुडुयिरप्पू में दाखिल हो गई। यह जानकारी मंगलवार को सैन्य अधिकारियों ने दी। समाचार एजेंसी डीपीए के अनुसार सेना की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि सेना मंगलवार सुबह राजधानी कोलंबो से 385 किलोमीटर पूवर्ोत्तर में पुटुकुडुयिरप्पू में दाखिल होने के बाद अपनी पकड़ मजबूत बनाने की कोशिश में जुटी है। बयान में कहा गया है कि सोमवार की लड़ाई में तमिल विद्रोहियों को भारी क्षति उठानी पड़ी। बयान के मुताबिक सेना को भी मामूली नुकसान हुआ। लेकिन बयान में दोनों पक्षों को पहुंचे नुकसान का ब्यौरा नहीं दिया गया है। सेना की कार्रवाईयों की स्वतंत्र पुष्टि भी नहीं की जा सकी है। हमले की ताजा कार्रवाई सरकार द्वारा लिट्टे की संघर्षविराम की पेशकश ठुकराने के एक दिन बाद की गई है। लिट्टे ने संघर्षविराम का आह्वान किया था लेकिन उसने हथियार डालने से इनकार कर दिया था। रक्षा प्रवक्ता केहेलिया रंबुकवेला ने लिट्टे के इस प्रस्ताव को हास्यास्पद करार देते हुए खारिज कर दिया था और कहा था इससे लगता है लिट्टे की ताकत पूरी तरह पस्त हो चुकी है। श्रीलंका के मुइतिवू जिले के अशांत क्षेत्रों में करीब 70,000 नगारिक फंसे हुए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: लिट्टे के आखिरी गढ़ में घुसी श्रीलंकाई सेना