दक्षिण अफ्रीका ने भारत को बराबरी पर रोका - दक्षिण अफ्रीका ने भारत को बराबरी पर रोका DA Image
12 दिसंबर, 2019|8:30|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दक्षिण अफ्रीका ने भारत को बराबरी पर रोका

दक्षिण अफ्रीका ने भारत को बराबरी पर रोका

शिवेंद्र सिंह के अंतिम लम्हों में दागे गोल की बदौलत भारत ने दो बार पिछड़ने के बाद वापसी करते हुए सोमवार को हाकी विश्व कप के पूल बी के रोमांचक मैच में दक्षिण अफ्रीका से 3-3 से ड्रा खेला जिससे अब वह सातवें-आठवें स्थान के प्ले ऑफ में उतरेगा। दोनों टीमें पहले ही सेमीफाइनल की दौड़ से बाहर हो गई थी।

भारत टीम पांच मैचों में एक जीत, एक ड्रा और तीन हार के साथ चार अंक जुटाकर अपने पूल में चौथे स्थान पर रही। टीम अब प्ले आफ में शुक्रवार को पूल ए में चौथे स्थान पर रहने वाली टीम से भिड़ेगी। दक्षिण अफ्रीका के भी भारत के बराबर चार अंक थे लेकिन गोल अंतर के आधार पर वह पांचवें स्थान पर खिसक गया। टीम अब नौवें-दसवें स्थान के प्ले ऑफ में शुक्रवार को पूल ए में पांचवें स्थान पर रहने वाली टीम से भिड़ेगी।

भारत को एक बार फिर मौके गंवाने का खामियाजा भुगतना पड़ा। कप्तान राजपाल सिंह, अर्जुन हलप्पा, गुरविंदर सिंह चांडी और प्रभजोत सिंह ने एक बार फिर निराश किया। टीम को पेनाल्टी कार्नर पर भी परेशानी का सामना करना पड़ा। दूसरी तरफ दक्षिण अफ्रीका ने दूसरे हाफ में तेज खेल दिखाया और उसके गोलकीपर इरासमस पिएटर्सी ने भारत के कई हमलों को नाकाम किया।

मेजबान टीम की ओर से सरवनजीत सिंह (17वें मिनट), दिवाकर राम (24वें मिनट) और शिवेंद्र सिंह (66वें मिनट) ने गोल दागे जबकि दक्षिण अफ्रीका की तरफ से लायड नोरिस जोन्स (आठवें मिनट), जस्टिन रीड रोस (39वें मिनट) और आस्टिन स्मिथ (47वें मिनट) ने गोल किए।

दोनों टीमों ने काफी तेज शुरुआत की और कुछ अच्छे मूव भी बनाए। दक्षिण अफ्रीका हालांकि अपनी तेजी के बल पर धीरे-धीरे हावी होने लगी और इसका फायदा टीम को आठवें मिनट में गोल के रूप में मिला। नोरिस ने अकेले दम भारतीय डिफेंडरों को छकाते हुए गेंद को गोल में डालकर दक्षिण अफ्रीका को 1-0 से आगे कर दिया।

नोरिस के इस गोल ने मानो भारतीय टीम को नींद से जगा दिया और टीम ने इसके बाद दमदार जवाबी हमले बोले। दक्षिण अफ्रीका को इस बीच 11वें मिनट में पेनाल्टी कार्नर मिला जो बर्बाद गया। भारत को इसके बाद गोल करने का अच्छा मौका मिला लेकिन दाएं छोर से लगाए कप्तान राजपाल के दमदार शाट को कलेक्ट करने के लिए सर्कल में कोई खिलाड़ी मौजूद नहीं था। मेजबान टीम ने 17वें मिनट में हलप्पा की अगुआई में एक ओर मूव बनाया लेकिन गोल नहीं पाए।

भारत के लगातार हमलों ने दक्षिण अफ्रीकी टीम दबाव में आ गई जिसका फायदा भारत को 21वें मिनट में मिला। अंपायर ने डिफेंडर के फाउल पर लांग कार्नर दिया लेकिन भारतीय खिलाड़ियों ने तीसरे अंपायर का रैफर मांगा जिसने इसे पेनाल्टी कार्नर में तब्दील कर दिया। हलप्पा हालांकि स्पाट पर शाट को रोकने में नाकाम रहे और पेनाल्टी कार्नर बर्बाद हो गया।

भारत को 23वें मिनट में एक और शार्ट कार्नर मिला लेकिन इस बार शिवेंद्र इसे स्पाट पर नहीं रोक पाए। शिवेंद्र ने हालांकि अपनी गलती सुधारते हुए गेंद पर नियंत्रण बनाया और इसे भरत की ओर बढ़ा दिया। भरत ने इसे दिवाकर राम की ओर बढ़ाया को दिया जिन्होंने दमदार शाट लगाते हुए टीम को 2-1 से आगे कर दिया।

इंग्लैंड को मध्यांतर से पहले बराबरी का मौका मिला लेकिन इयान हेले का शाट गोल के ऊपर से निकल गया। मध्यांतर तक भारत 2-1 से आगे था। मध्यांतर के बाद दक्षिण अफ्रीका की टीम ने एक बार फिर हावी होने की कोशिश की। टीम को तीसरे ही मिनट में पेनाल्टी कार्नर मिला जिस गोलकीपर एड्रियन डिसूजा ने बेहतरीन बचाव किया लेकिन रीड रोस ने रिबाउंड पर इसे गोल में पहुंचकार टीम को 2-2 से बराबरी दिला दी।

भारत ने इसके बाद राजपाल की अगुआई में एक और अच्छा मूव बनाया और गुरविंदर सिंह चांडी के पास सरवनजीत ने इसे डिफलेक्ट करके गोल में डाल दिया। भारतीय टीम इस गोल का जश्न मना ही रही थी विरोधी टीम ने भारतीय सर्कल पर हुए फाऊल के लिए रैफर मांगा जिस पर टीवी अंपायर ने भारत के गोल को नकारते हुए दक्षिण अफ्रीका को पेनाल्टी कार्नर दे दिया।

यह पेनाल्टी कार्नर बर्बाद गया लेकिन भारतीय खिलाड़ी के फाउल पर दक्षिण अफ्रीका को मैच का अपना चौथा पेनाल्टी कार्नर मिला जिसे कप्तान आस्टिन स्मिथ ने अपनी दमदार ड्रैग फ्लिक से गोल में डालकर टीम को 3-2 से आगे कर दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दक्षिण अफ्रीका ने भारत को बराबरी पर रोका