राजद और भाजपा के विधायको ने सरकार को घेरा - राजद और भाजपा के विधायको ने सरकार को घेरा DA Image
15 नबम्बर, 2019|12:07|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राजद और भाजपा के विधायको ने सरकार को घेरा

विधानसभा में सोमवार को राजद और भाजपा के विधायक अलग-अलग मुद्दे पर सरकार के खिलाफ खड़े हो गये। अल्पसंख्यकों को शिक्षा लोन देने में सरकार पर शिथिलता का आरोप लगाते हुए राजद ने वॉक आउट किया। वहीं बड़हरा की जदयू विधायक आशा देवी ने ग्रामीण कार्य विभाग के एक मामले को ले सरकार को कठघरे में खड़ा कर दिया। सीमांचल के होटलों में आतंकियों के ठहरने से संबंधित भाजपा के नितिन नवीन के तारांकित सवाल पर भाजपा के कई विधायक एकजुट हो कहने लगे कि सीमांचल के होटलों में जाली नोट और आतंकियों का आवागमन हो रहा है। स्थानीय प्रशासन इन गतिविधियों को रोकने के प्रति गंभीर नहीं है। नितिन नवीन के पीछे रामेश्वर चौरसिया, राजकिशोर केशरी, रामायण मांङी, प्रेम रंजन पटेल, प्रमोद कुमार, तारकिशोर प्रसाद, जवाहर प्रसाद समेत कई भाजपा सदस्य खड़े हो जोर-जोर से बोलने लगे। मंत्री विजेन्द्र प्रसाद यादव ने यह कहकर उन्हें शांत कराया कि स्पेशिफिक मामले की शिकायत होगी तो उसकी जांच की जाएगी।

राज्य अल्पसंख्यक वित्त निगम द्वारा इस वर्ष शिक्षा लोन नहीं देने की बात कहते हुए राजद ने सदन से वॉक आउट किया। इसके पहले राजद के अब्दुल बारी सिद्दीकी और अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री शाहिद अली खां ने बीच देर तक बहस चली। राजद के आरोपों के विपरित मंत्री ने कहा कि राजद शासित 15 साल में इस मद के लिए मात्र 3.28 करोड़ रुपए आवंटित किये गये थे जबकि नीतीश सरकार ने चाल सालों में 6.75 करोड़ रुपए का आवंटन किया है। जदयू की आशा देवी ने ग्रामीण कार्य विभाग के टेंडरों में बरती जा रही अनियमितता की जांच को लेकर सरकार को कठघरे में खड़ा कर दिया। मंत्री विजेन्द्र प्रसाद यादव ने माना कि अक्टूृबर 2008 के इस मामले की जांच मे देरी हुई है पर अगले 15 दिनों में इसपर कार्रवाई हो जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:राजद और भाजपा के विधायको ने सरकार को घेरा