अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

‘मंदी से सबसे पहले उबरेगी भारतीय अर्थव्यवस्था’

अमेरिकी वित्तीय कंपनी फ्रेंकलिन टेम्पलटन का मानना है कि वैश्विक आर्थिक मंदी से भारतीय अर्थव्यवस्था सबसे पहले उबरेगी और स्थानीय बाजारों में बढ़ती मांग के चलते रिलायंस एवं भारतीय एयरटेल का दबदबा बना रहेगा। कंपनी ने मंगलवार को बताया कि बुनियादी तौर पर देखा जाए तो यह स्पष्ट है कि भारतीय अर्थव्यवसथा निर्यात पर बहुत ही कम निर्भर है और इसी खूबी के चलते वह मौजूदा आर्थिक अनिश्चितता का बेहतर ढंग से सामना कर सकती है। इसके अलावा भारत का बैंकिंग तन्त्र भी बहुत मजबूत है और घरेलू बाजार में माल की खपत अच्छी है। गौरतलब है कि अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष ने इस वर्ष भारत की आथिक वृद्धि दर 5.1 प्रतिशत रहने की बात कही है। भारतीय बाजार से जुड़े कंपनी के मुख्य निवेश अधिकारी सुकुमार रा ने बताया कि जो अर्थव्यवस्थाएं घरेलू मांग पर आधारित है और थोड़ी अच्छी रफ्तार से आगे बढ़ रही है वे दीर्घकाल के लिए नए कैपिटल को आकर्षित करने में सफल रहती है। उन्होंने बताया कि उनकी कंपनी ने रिलायंस में अपना निवेश बढ़ाकर 7.8 प्रतिशत किया है क्योंकि तेल एवं गैस खनन, उत्पादन और पेट्रोकैमिकल्स के क्षेत्र में कंपनी ने अच्छा प्रदर्शन किया है। भारती एयरटेल के बारे में उन्होने कहा कि भारतीय मोबाइल बाजार में अगले दो-तीन वषर्ो तक जोरदार बढ़ोत्तरी होगी और इस कंपनी ने नए ब्रांड, बेहतर बुनियादी ढांचे के चलते बाजार के काफी बड़े हिस्से पर कब्जा किया है। राय ने कहा कि हमारा मानना है कि बेहतर प्रबंधन क्षमता वाली भारतीय कंपनियां मौजूदा वातावरण में मजबूत बनकर उभरेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ‘मंदी से सबसे पहले उबरेगी भारतीय अर्थव्यवस्था’