DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विधेयक पारित कराने की मंगलवार को कोशिश होगी: मोइली

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर सोमवार को महिला आरक्षण विधेयक पारित कराने में विफल रही सरकार मंगलवार को इस पर चर्चा कराने तथा इसे पारित कराने का फिर प्रयास करेगी।

कानून मंत्री वीरप्पा मोइली तथा सूचना प्रसारण मंत्री अंबिका सोनी ने शाम को राज्यसभा की कार्यवाही स्थगित होने के बाद संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि यह ऐतिहासिक विधेयक संविधान संशोधन विधेयक होने के साथ ही महिलाओं की सशक्तीकरण से जुडा हुआ है और हम इसे बहुमत की ताकत पर जबरन पास नहीं कराना चाहते थे। यह विधेयक राज्यसभा की मंगलवार की कार्यसूची में शामिल है और हमें पूरा भरोसा है कि हम विधेयक पारित कराने में सफल रहेंगे। लेकिन वह इस प्रश्न को टाल गए कि यदि विधेयक का विरोध कर रहे दलों का कल भी यही रवैया रहा तो सरकार इसे कैसे पारित करेगी।

सोनी ने कहा कि यह सुझाव भी आया था कि विधेयक का विरोध कर रहे सदस्यों को सदन से निकाल कर इसे पारित कराया जाए लेकिन सरकार ने इस विधेयक के महत्व को देखते हुए ऐसा नहीं करने का फैसला किया। उन्होंने भाजपा और माक्र्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के इस आरोप को गलत बताया कि विधेयक को पारित करने के लिए सरकार ने कोई रणनीति नहीं बनाई थी और न ही विधेयक के समर्थकों से सलाह मशविरा किया। श्रीमती सोनी ने कहा कि सभी को पता था कि यह विधेयक लाया जा रहा है तथा प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने इस संबंध में आज विभिन्न दलों के नेताओं से बात भी की।

मोइली ने कहा कि यह कहना सही नहीं है कि सरकार इस विधेयक को पारित कराने में विफल रही। उन्होंने कहा कि कुछ दलों के सदस्यों ने आज राज्यसभा में जिस तरह का गैर जिम्मेदाराना बर्ताव किया। उसका जवाब उसी तरह से देना उचित नहीं था। सरकार ने विधेयक चर्चा के लिए सदन में पेश कर दिखा दिया कि वह इसके प्रति पूरी तरह गंभीर है।

यह पूछे जाने पर कि क्या सरकार इस विधेयक को बिना चर्चा के पारित कराएगी। उन्होंने कहा कि हम चाहते हैं कि ऐसी स्थिति नहीं आए तथा सभी दल के सदस्यों को इस क्रांतिकारी विधेयक पर अपनी राय रखने का अवसर मिले।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विधेयक पारित कराने की मंगलवार को कोशिश होगी: मोइली