चेन्नई की बल्लेबाजी है प्रमुख हथियारः धोनी - चेन्नई की बल्लेबाजी है प्रमुख हथियारः धोनी DA Image
19 नबम्बर, 2019|10:27|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चेन्नई की बल्लेबाजी है प्रमुख हथियारः धोनी

चेन्नई की बल्लेबाजी है प्रमुख हथियारः धोनी

चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी ने कहा है कि 12 मार्च से शुरू हो रहे आईपीएल थ्री में उनकी टीम का मुख्य अस्त्र बल्लेबाजी होगी और टीम अपने इस अस्त्र के दम पर खिताब जीतने के लिए पूरा जोर लगाएगी।

धोनी ने कोच स्टीफन फ्लेमिंग के साथ एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि हम इस वर्ष भारत में आयोजित हो रहे आईपीएल का खिताब जीत सकते हैं। उन्होंने साथ ही टीम की गेंदबाजी आक्रमण कमजोर होने की बात को सिरे से खारिज करते हुए कहा कि गेंदबाजी कोई समस्या नहीं है जरूरत है बस हमें अपनी पूरी क्षमता के साथ खेलने की। हमारे पास ऐसे कई खिलाड़ी हैं जो हमारे प्रमुख गेंदबाजों की अनुपस्थिति में अच्छी गेंदबाजी करने की क्षमता रखते हैं।

धोनी ने साथ ही कहा कि बल्लेबाजी हमारा मुख्य अस्त्र है। हमें बेहतरीन गेंदबाजी विकल्प के साथ मैदान में अपना सर्वश्रेष्ठ एकादश उतारना होगा। अगर हमारा कोई मुख्य गेंदबाज फार्म से जूझ रहा होगा तो हमारे वैकल्पिक गेंदबाज उसकी भरपाई कर सकते हैं।

टीम इंडिया के कप्तान ने कहा कि दक्षिण अफ्रीका के एंड्रयू फ्लिंटाफ की जगह टीम में शामिल गिए गए आलराउंडर जस्टिन के लिए उपयोगी गेंदबाज साबित हो सकते हैं। वहीं न्यूजीलैंड के आलराउंडर जैकब ओरम की उपलब्धता उनके चोट के ठीक होने पर निर्भर करती है। उन्होंने कहा कि बड़ी हिट लगाने की क्षमता लगाने वाले कैंप हमारी टीम का अच्छा अस्त्र साबित हो सकते हैं। हमारे पास इसके अलावा भी कई विकल्प मौजूद हैं। चेन्नई का विकेट काफी उछाल भरा है और यहां पर गेंदबाजों को काफी मूवमेंट मिलेगा। ऐसे में कैंप हमारे लिए काफी लाभदायक हो सकते हैं।

धोनी ने हालांकि माना कि 20-20 फारमेट में जीत की गारंटी नहीं दे सकते। उन्होंने कहा कि आप क्रिकेट के इस फटाफट संस्करण में जीत की गांरटी नहीं दी जा सकती। क्योंकि एक खराब दिन या फिर खराब खेल आपको मैच हरा सकता है। हमें लगातार शानदार क्रिकेट खेलने की जरूरत होगी।

यह पूछने पर कि चेन्नई की अंतिम एकादश में कितने विदेशी खिलाड़ियों को जगह मिलेगी तो धोनी ने कहा कि ये इंडियन प्रीमियर लीग है और हमें यहां अपने युवा खिलाड़ियों को मौका देने की जरूरत है ताकि उनकी प्रतिभा निखरकर सामने आ सके। इससे भारतीय क्रिकेट का भला होगा।

धोनी ने मनप्रीत गोनी, सुरेश रैना, सुब्रमण्यम बद्रीनाथ, आर अश्विन और सादाब जकाती का उदाहरण देते हुए कहा कि आईपीएल के दूसरे संस्करण में इन भारतीय खिलाड़ियों ने शानदार प्रदर्शन किया
था। उन्होंने कहा कि स्थानीय खिलाड़ी काफी अहम होते है और यही भारतीय क्रिकेट के भविष्य भी हैं। हमें उन्हें ज्यादा से ज्यादा मौके देने की जरूरत है और इसी से भारतीय क्रिकेट आगे जाएगी।

आगामी 20-20 विश्व कप के बारे में पूछने पर धोनी ने कहा कि हमें उसके लिए मानसिक तौर पर तैयार रहना होगा। हमें गुणवत्ता वाले अभ्यास पर ध्यान देना होगा। अगर हर रोज घंटे डेढ़ घंटे नेट में अभ्यास करते हैं तो वह ज्यादा अहम होगा।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:चेन्नई की बल्लेबाजी है प्रमुख हथियारः धोनी