DA Image
13 जुलाई, 2020|4:39|IST

अगली स्टोरी

बिना चर्चा विधेयक पर मतदान में हिस्सा नहीं लेंगे: भाजपा

महिला विधेयक पर सरकार का समर्थन कर रही भाजपा ने सरकार पर विधेयक पारित कराने का अकेले श्रेय लेने का आरोप लगाते हुए आगाह किया कि यदि विधेयक पर चर्चा नहीं कराई गई तो वह मतदान में नहीं भाग लेगी।

महिला आरक्षण विधेयक को राज्यसभा में चर्चा के लिए पेश किये जाने के दौरान कुछ सदस्यों के प्रति फाड़ने और हंगामा करने की घटना को निंदनीय करार देते हुए भाजपा नेता एस एस अहलूवालिया ने कहा कि पार्टी महिला आरक्षण विधेयक पर चर्चा कराने के पक्ष में है।

राज्यसभा में भाजपा के उपनेता अहलूवालिया ने संवाददाताओं से कहा कि हम ऐसे महत्वपूर्ण विधेयक को बिना चर्चा के पारित कराने के पक्ष में नहीं हैं। संविधान संशोधन विधेयक के लिए चर्चा कराना आवश्यक होता है क्योंकि हम कुछ बुनियादी चीजों में बदलाव करते हैं।

उन्होंने कहा कि राज्यसभा में विधेयक पेश किये जाने के दौरान जो कुछ हुआ़, यह दुर्भाग्यपूर्ण घटना है। भाजपा इसकी भर्त्सना करती है। ऐसा नहीं होना चाहिए था।

अहलूवालिया ने कहा कि सरकार को इस महत्वपूर्ण एवं ऐतिहासिक विधेयक को सुगमता से पास कराने के लिए एक खाका तैयार करना चाहिए था लेकिन सरकार ने इस विषय पर स्वेच्छा से समर्थन देने वाली भाजपा से भी कोई चर्चा करना जरूरी नहीं समझा।

उन्होंने कहा कि हम इस विधेयक को पारित देखना चाहते हैं क्योंकि लोग टकटकी लगाये हुए है जब एक ऐसा ऐतिहासिक क्षण आयेगा कि महिलाओं को संसद और विधानसभाओं में 33 प्रतिशत आरक्षण प्राप्त होगा।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:बिना चर्चा विधेयक पर मतदान में हिस्सा नहीं लेंगे: भाजपा