स्तन में पड़ने वाली सभी गाँठें कैंसर नहीं - स्तन में पड़ने वाली सभी गाँठें कैंसर नहीं DA Image
19 नबम्बर, 2019|11:11|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्तन में पड़ने वाली सभी गाँठें कैंसर नहीं

स्तन में पड़ने वाली सभी गाँठे कैंसर नहीं होती। लेकिन गाँठों को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। क्योंकि यहीं गाँठ आगे चलकर कैंसर का रूप ले सकती हैं। 40 वर्ष की महिलाओं को स्तन की गाँठों के प्रति अधिक संजीदा रहने की आवश्यकता है। गाँठ का पता चलते ही डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए। यह बातें रविवार को मुम्बई स्थित टाटा मेमोरियल हॉस्पिटल के डॉ. राजीव सरीन ने कही।

कन्वेंशन सेंटर में चिविवि रेडियोथेरेपी विभाग की ओर से ब्रेस्ट कैंसर फाउंडेशन के 14 वें वार्षिक अधिवेशन पर बीसीएफकॉन-2010 का आयोजन किया गया। इसमें डॉ. सरीन ने कहा कि स्तन में पड़ने वाली 80 प्रतिशत गाँठे सामान्य होती हैं। यदि इन गाँठों का इलाज न किया जाए तो भी खास फर्क नहीं पड़ेगा। पर, लंबे समय तक इनकी अनदेखी नहीं करनी चाहिए।

डॉ. सरीन ने कहा कि स्तन कैंसर आनुवांशिक बीमारी है। लिहाजा ऐसे महिलाओं को अधिक चौकन्ना रहने की जरूरत है जिनके परिवार में पहले स्तन कैंसर की समस्या हो चुकी है। फाउंडेशन के संस्थापक डॉ. एमके महाजन ने कहा कि 30 साल के बाद शादी करने वाली महिला और शिशु को स्तनपान न कराने वाली महिलाओं में स्तन कैंसर की गुंजाइश 10 गुना अधिक रहती है।

डॉ. महाजन ने बताया कि देरी से शादी व स्तनपान न कराने से ऐस्ट्रोजन नाम का हार्मोन असंतुलित हो जाता है। यह हार्मोन स्तन कैंसर के लिए जिम्मेदार है। महिलाएँ कम से कम एक साल तक बच्चों को स्तनपान कराएँ। चिविवि रेडियोथेरेपी विभाग के अध्यक्ष डॉ. एमसी पंत ने कहा कि स्तन कैंसर भारत में तेजी से पाँव पसार रहा है। जागरूकता की कमी से हर साल एक लाख से अधिक महिलाओं की मौत स्तन कैंसर से हो रही है। जबकि इसकी जाँच बेहद आसान है।

महिलाएँ खुद भी इसकी जाँच कर सकती है। केरल के डॉ. एस. परमेश्वरन ने कहा कि गाँव के मुकाबले शहरी क्षेत्र की महिलाओं में स्तन कैंसर की समस्या अधिक पाई गई है। इस मौके पर पोस्टर प्रदर्शनी का भी आयोजन किया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:स्तन में पड़ने वाली सभी गाँठें कैंसर नहीं