बड़े मैचों में खेलने की मानसिकता बदलनी होगी: हरेंद्र - बड़े मैचों में खेलने की मानसिकता बदलनी होगी: हरेंद्र DA Image
14 दिसंबर, 2019|1:50|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बड़े मैचों में खेलने की मानसिकता बदलनी होगी: हरेंद्र

बड़े मैचों में खेलने की मानसिकता बदलनी होगी: हरेंद्र

अपनी मेजबानी में हो रहे विश्व कप के पूल चरण में चार में से महज एक जीत दर्ज कर सकी भारतीय टीम के कोच हरेंद्र सिंह ने स्वीकार किया कि बड़ी टीमों के खिलाफ खेलने के लिए मानसिकता में बदलाव बेहद जरूरी है।

इंग्लैंड के हाथों करीबी मुकाबला हारने के बाद हरेंद्र ने कहा कि एक साफ्ट गोल ने हमें टूर्नामेंट से बाहर कर दिया। इसे हलके में नहीं लिया जा सकता। हमें आस्ट्रेलिया और इंग्लैंड जैसी बड़ी टीमों के खिलाफ खेलते समय अपनी मानसिकता बदलनी होगी। इन मैचों में एक सेकंड की कोताही भारी पड़ सकती है और इसका अब टीम को बखूबी अंदाज हो गया होगा।

उन्होंने कहा कि अक्टूबर में होने वाले राष्ट्रमंडल खेलों से पहले इन गलतियों में सुधार करके ही बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद की जा सकती है। उन्होंने कहा कि हमारे पास अभी छह महीने हैं। हमें अपनी गलतियों का बखूबी इल्म हो गया है। अब इनमें सुधार करके ही राष्ट्रमंडल खेलों के दौरान विश्व कप के खराब प्रदर्शन का गम दूर किया जा सकता है।

दीपक ठाकुर और प्रभजोत सिंह जैसे सीनियर खिलाड़ियों के खराब फार्म के बारे में हरेंद्र ने कहा कि हमें हार की सामूहिक जिम्मेदारी लेनी होगी। मैं कोच होने के नाते देश से माफी मांगता हूं कि हम अपेक्षाओं पर खरे नहीं उतर सके। किसी एक खिलाड़ी को दोष देना सही नहीं होगा। टूर्नामेंट के बाद अपने अपने प्रदर्शन पर सभी आत्ममंथन जरूर करेंगे।

उन्होंने इस बात को भी खारिज किया कि विश्व कप के लिए भारत की तैयारी पुख्ता नहीं थी और उसे अंतरराष्ट्रीय मैचों का अधिक अनुभव नहीं मिल सका था। उन्होंने कहा कि महान कोच रिक चार्ल्सवर्थ का भी कहना है कि एक साल में 45 अंतरराष्ट्रीय मैच तैयारी के लिए काफी होते हैं। हमने भी करीब इतने ही मैच खेले। मुझे नहीं लगता है कि हमें अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अधिक अभ्यास नहीं मिल पाया।

भारत की बेंच स्ट्रेंथ को भी कमजोर मानने से इंकार करते हुए कोच ने कहा कि जब टीम जीतती है तो सब सकारात्मक लगता है। हारने पर इसी तरह की बातें होती है, लेकिन हम वायदा करते हैं कि आने वाले समय में बेहतर प्रदर्शन करके इस दाग को धो देंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बड़े मैचों में खेलने की मानसिकता बदलनी होगी: हरेंद्र