यूपी ने अनाज भण्डारण पर केन्द्र का प्रस्ताव ठुकराया - यूपी ने अनाज भण्डारण पर केन्द्र का प्रस्ताव ठुकराया DA Image
10 दिसंबर, 2019|5:00|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यूपी ने अनाज भण्डारण पर केन्द्र का प्रस्ताव ठुकराया

यूपी में स्टेट पूल की व्यवस्था खत्म हो जाने के बाद केन्द्र अनाज भण्डारण के लिए यहाँ भी पंजाब-हरियाणा की तरह की व्यवस्था चाहता है। गेहूँ खरीद की तैयारियों का जायजा लेने आई भारतीय खाद्य निगम के सीएमडी दीपक कुमार पनवर के नेतृत्व में लखनऊ आई उच्चस्तरीय टीम के साथ राज्य सरकार के आला अफसरों की बैठक में भी यह मुद्दा उठा।

लेकिन राज्य के खाद्य विभाग ने फिलहाल प्रस्ताव का अध्ययन करने के बाद केन्द्र को अपनी असहमति दे दी है। खाद्य विभाग ने साफ कर दिया है कि स्टेट पूल खत्म करने का फैसला राज्य मंत्रिपरिषद में लिया गया है और उसको इस तरह बदलने का कोई सवाल नहीं।

उच्चस्तरीय सूत्रों के अनुसार अनाज की सरकारी खरीद में अव्वल पंजाब-हरियाणा में सेन्ट्रल पूल में होने वाली खरीद का भण्डारण वहाँ की राज्य सरकार करती है। सार्वजनिक वितरण प्रणाली की योजनाओं के लिए जब एफसीआई अनाज लेती है तब राज्य सरकार को भुगतान कर दिया जाता है। राज्य सरकार को इसके एवज में कैरी-ओवर चार्ज का भुगतान किया जाता है।

एफसीआई चाहती है कि भण्डारण का जिम्मा अगर राज्य सरकार उठा लेती है तो खाद्य निगम अपना सारा ध्यान गेहूं की खरीद पर केन्द्रित कर सकेगी। केन्द्र इस बाबत राज्य सरकार को पहले ही प्रस्ताव दे चुका है लेकिन राज्य के खाद्य विभाग ने यह प्रस्ताव फिलहाल ठुकरा दिया है। केन्द्र को बता दिया है कि यूपी में गेहूँ की खरीद सेन्ट्रल पूल में होगी और उसी में भण्डारण होगा।

सूत्रों के अनुसार इस बीच, एफसीआई और राज्य सरकार के अधिकारियों के बीच चली दो दिन की बैठक में तय हो गया कि चालीस लाख मीट्रिक टन गेहूँ की खरीद होगी। जिसमें दस लाख खाद्य निगम व शेष राज्य सरकार की एजेन्सियाँ खरीदेगी। खाद्य निगम करीब पाँच सौ खरीद केन्द्र खोलेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:यूपी ने अनाज भण्डारण पर केन्द्र का प्रस्ताव ठुकराया