हजकां की ललकार, पुलिस ने किया वार - हजकां की ललकार, पुलिस ने किया वार DA Image
20 नबम्बर, 2019|12:18|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हजकां की ललकार, पुलिस ने किया वार

हरियाणा जनहित कांग्रेस की रैली में शुक्रवार को जमकर हंगामा हुआ। पहले हजकां कार्यकर्ताओं ने एक घंटे तक पानी की बौछार और आंसू गैस के गोलों का सामना करते हुए पथराव किया। इसके बाद पुलिस ने जवाबी कार्रवाई कर कार्यकर्ताओं को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा।

हजकां प्रमुख कुलदीप बिश्नोई पर भी पुलिस ने जमकर लाठियां बरसाईं, उन्हें गंभीर चोटें आईं। लाठीचार्ज में कुल 29 कार्यकर्ताओं को चोटें आईं, जबकि अधिकारियों सहित 34 पुलिसकर्मी भी अस्पताल पहुंच गए। इस घटना को लेकर कुलदीप बिश्नोई समेत अन्य कार्यकर्ताओं पर दंगा और हत्या के प्रयास का मामला दर्ज किया गया है।  

इस पूरे बवाल में सबसे शर्मनाक घटना यह रही कि पुलिस ने रैली में आई सभी कारों और बसों के शीशे तोड़ डाले। खिसियाई पुलिस ने कम से कम दो सौ वाहनों को क्षतिगस्त कर दिया। इससे पहले अपने संबोधन में पार्टी प्रमुख कुलदीप बिश्नोई खूब दहाड़े। कार्यकर्ताओं को ललकारते हुए बिश्नोई ने कहा कि सभी को विधानसभा के अंदर घुसना है और गद्दारों को पकड़ कर पीटना भी है। उनका इशारा अपने उन पांच विधायकों की ओर था, जो चुनाव जीतने के बाद कांग्रेस से हाथ मिला बैठे थे।

शुक्रवार को हजकां की ओर से सेक्टर-25 स्थित रैली ग्राउंड पर सभा का आयोजन किया गया। इस दौरान हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भजन लाल और हजकां प्रमुख कुलदीप बिश्नोई सहित कई नेता मौजूद थे। नेताओं ने पहले ही साफ कर दिया था कि इस सभा का मकसद भाषणा करना नहीं, बल्कि उग्र विरोध जताना है। हजकां की ओर से यह रैली बढ़ती महंगाई, सरकार के गैरकानूनी कार्यो और क्षेत्रवाद के खिलाफ थी।

हरियाणा सरकार के साथ ही सोनिया गांधी पर भी निशाना साधा गया। भीड़ भी उग्र थी और उनका मकसद विधान सभा ही पहुंचना था। भाषण खत्म होने के बाद ही कार्यकर्ताओं के हुजूम ने विधान सभा का रुख कर दिया। उन्हें रोकने के लिए पीयू की ओर करीब डेढ़ हजार की संख्या में पुलिसबल बैरिगेट्स बना कर खड़ी था।

कार्यकर्ताओं से अपील की गई कि वे पीछे हट जाएं और बैरिगेट्स नहीं तोड़ें। पर जोश से लबरेज कार्यकर्ताओं ने अपने नेता का पीछा नहीं छोड़ा। इसके बाद किसी ने पीछे से पहला पत्थर चला दिया। पुलिस ने भी वाटर कैनन चालू कर दिया और पानी की बौछारें कर कार्यकर्ताओं को तितर-बितर करने लगीं। इसके बाद तो रैली में शामिल लोगों की ओर से जमकर पथराव शुरू हो गया। एक बजकर 35 मिनट से लेकर दो बजकर 40 मिनट तक पथराव होता रहा। इसके बाद पुलिस ने चेतावनी दी और लाठी चार्ज का आदेश हो गया।

एक घंटे से भी ज्यादा समय से ईंट-पत्थरों का हमला ङोल रहे पुलिस के जवान कार्यकर्ताओं पर टूट पड़ें। पुलिस की जवाबी कार्रवाई देखते ही पत्थर फेंक रहे लोग पीछे की ओर भागने लगे और पूरा रैली ग्राउंड लगभग खाली हो गया। लेकिन पुलिस ने पीछा नहीं छोड़ा और कार्यकताओं को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा।

हजकां कार्यकताटों के पीछे हट जाने के बाद रैली ग्राउंड में खड़ी पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं की सभी गाड़ियों के शीशे खुन्नस में तोड़ दिए गए। पुलिसिया कार्रवाई में कुलदीप बिश्नोई के सिर और कंधे में चोटें आईं और उनकी महिला कार्यकर्ता सहित 29 चोटिल हुए। एक को पीजीआई में भी भर्ती कराया गया। भजन लाल भी घायलों का हाल पूछने सेक्टर-16 स्थित जनरल अस्पताल पहुंचे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हजकां की ललकार, पुलिस ने किया वार