दांतों को छह महीने पर डॉक्टर को दिखाने की जरूरत - दांतों को छह महीने पर डॉक्टर को दिखाने की जरूरत DA Image
17 नबम्बर, 2019|12:49|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दांतों को छह महीने पर डॉक्टर को दिखाने की जरूरत

दांतों को छह महीने पर डॉक्टर को दिखाने की जरूरत

यदि आप अपने व्यक्तित्व में हर तरह से चार चांद लगाना चाहते हैं तो आपको अपने दांतों के स्वास्थ्य पर भी विशेष ध्यान देने की जरूरत है।

यदि आप इस ओर जागरूक नहीं हैं तो अस्वस्थ दांतों की वजह से आपकी सारी खूबरसूरती बदसूरती में बदल सकती है। इसलिए हर छह महीने के अंतराल में किसी अच्छे दंत चिकित्सक के पास जाना चाहिए।

मौलाना आजाद मेडिकल कालेज के दंत चिकित्सक राजन तिवारी का कहना है कि जिस तरह शरीर में प्रत्येक अंग महत्वपूर्ण होता है, उसी तरह दांत भी महत्वपूर्ण हैं। उन्होंने कहा कि स्वस्थ दांतों से जहां व्यक्ति के व्यक्तित्व में निखार आता है, वहीं इनसे तन और मन दोनों स्वस्थ रहते हैं। तिवारी का कहना है कि ज्यादातर लोग सही तरह से ब्रश करना नहीं जानते और इस कारण दांतों की सफाई करने के बावजूद उन्हें कई तरह की समस्याएं हो जाती हैं।

उन्होंने कहा कि दांतों को साफ रखने के लिए सुबह और रात के समय सोने से पहले सही तरह से ब्रश करना जरूरी है। तिवारी ने कहा कि ऐसा न होने से दांतों पर मैल की परत जम जाती है जो धीरे-धीरे इतनी मजबूत हो जाती है कि उसे छुड़ाने के लिए चिकित्सीय औजारों का इस्तेमाल करना पड़ता है। उन्होंने कहा कि दांतों को पूरी तरह सही सलामत रखने के लिए इन्हें हर छह महीने के अंतराल में किसी अच्छे चिकित्सक को दिखाना चाहिए।

तिवारी ने कहा कि दांतों में गंध की वजह से जहां इनमें कीड़ा होने लगता है, वहीं मसूड़े भी बीमार होकर दांतों का साथ छोड़ने लगते हैं और इस तरह आदमी जल्द ही दांत रहित हो जाता है। दंत चिकित्सक राजीव कुमार का कहना है कि सिर्फ बड़ों को ही नहीं, बल्कि बच्चों के लिए भी दांतों की देखभाल अत्यंत जरूरी है। आजकल बच्चों के दांतों में भी कीड़ा लगने की समस्या देखी जा रही है।
उन्होंने कहा कि माता-पिता को बच्चों के दांतों की साफ सफाई पर ध्यान देना चाहिए और उन्हें इसका महत्व समझाना चाहिए।

दूसरी ओर सौंदर्य विशेषज्ञ रमा मेहता का कहना है कि आदमी के व्यक्तित्व में दांतों की बहुत महत्वपूर्ण भूमिका होती है। यदि कोई बहुत खूबसूरत है, लेकिन उसके दांत गंदे दिखाई देते हैं या मसूड़ों से खून रिसता दिखाई देता है तो इससे उसकी सारी सुंदरता प्रभावित हो जाती है। उन्होंने कहा कि मॉडल्स और अभिनेता-अभिनेत्रियां अपने दांतों को चमकीला बनाने के लिए उन पर कत्रिम रंग करा लेते हैं, लेकिन इन्हें स्वस्थ तभी रखा जा सकता है जब आप इनके बारे में दंत चिकित्सकों से परामर्श लेते रहें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दांतों को छह महीने पर डॉक्टर को दिखाने की जरूरत