जीएम आलू के उत्पादन पर यूरोप में उठा विवाद - जीएम आलू के उत्पादन पर यूरोप में उठा विवाद DA Image
19 नबम्बर, 2019|11:23|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जीएम आलू के उत्पादन पर यूरोप में उठा विवाद

यूरोप में अनुवांशिक रूप से उन्नत आलू की व्यावसायिक खेती को मंजूरी मिलने के बाद कई देशों और पर्यावरणविदों ने इसका विरोध करना शुरू कर दिया है।

जीएम एमफ्लोरा नाम के इस आलू को रसायन उद्योग की जानी मानी कंपनी बीएएसएफ ने विकसित किया है। माना जा रहा है कि जर्मनी कागज उद्योग आदि के लिए इसका उत्पादन करेगा। खाद्य पदार्थ के रूप में इसके उत्पादन की फिलहाल संभावना नहीं है।

विशेषज्ञों का कहना है कि अनुवांशिक रूप से उन्नत किस्मों का उत्पादन स्वास्थ्य के लिए घातक हो सकता है। उनके अनुसार इन किस्मों में ऐसे जीन डाले जाते हैं जो एंटीबायोटिक के प्रति शरीर में प्रतिरोधक क्षमता विकसित करते हैं। हालांकि फिलहाल इनका उत्पादन खाने के लिए नहीं किया जा रहा है लेकिन यदि इनके छिलके जानवर खा लें तो उनके जरिए ये जीन मनुष्य के शरीर में भी पहुंच सकते हैं और टीबी का कारण बन सकते हैं।

समाचार पत्र टेलीग्राफ के अनुसार ब्रिटेन में इसके उत्पादन की संभावना नहीं है क्योंकि यहां औद्योगिक क्षेत्र में आलू की मांग नहीं है। आलू से पहले यूरोप में वर्ष 1998 में अनुवांशिक रूप से उन्नत मक्के की एक किस्म के उत्पादन की मंजूरी दी गई थी।

अनुवांशिक तौर से उन्नत फसलों का प्रयोग वैज्ञानिक परीक्षणों में भी किया जाता है। ब्रिटिश सरकार ने हाल ही में आलू की कुछ ऐसी ही किस्मों के परीक्षण की मंजूरी दी थी। लेकिन यह पहली बार है जब यूरोप में अनुवांशिक तौर पर उन्नत आलू का व्यावसायिक उत्पादन किया जाएगा।

यूरोपीय संघ के इस फैसले पर अन्य देशों तथा वैज्ञानिकों ने मिली-जुली प्रतिक्रिया दी है। यूरोपीय संघ के स्वास्थ्य एवं उपभोक्ता नीति कमीश्नर जान डल्ली ने कहा कि संघ ने यह फैसला वैज्ञानिक आधार पर लिया है। दूसरी ओर इटली ने इस फैसले का विरोध किया है।

कुछ दिनों पहले भारत में भी बीटी बैंगन को लेकर विवाद हुआ था जिसमें केंद्र और राज्य सरकारें आमने-सामने आ गई थीं। आंध्र प्रदेश समेत कई राज्यों ने इसका व्यावसायिक उत्पादन न करने की घोषणा की थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जीएम आलू के उत्पादन पर यूरोप में उठा विवाद