सीएम ने खारिज किया कृषि विभाग का फार्मूला - सीएम ने खारिज किया कृषि विभाग का फार्मूला DA Image
13 नबम्बर, 2019|11:05|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सीएम ने खारिज किया कृषि विभाग का फार्मूला


अटल आदर्श ग्राम योजना के लिए कृषि विभाग द्वारा तैयार किए गए फामरूले को मुख्यमंत्री ने खारिज कर दिया है। राज्य के 670 न्याय पंचायत मुख्यालय ग्रामों में से 488 पर कृषि निवेश आपूर्ति केंद्र बनाए जाने प्रस्तावित थे। लेकिन अभी तक एक भी न्याय पंचायत मुख्यालय पर यह कार्य नहीं हो सका। मुख्यमंत्री ने इस बात पर कृषि विभाग के प्रति गहरी नाराजगी व्यक्त की।

राज्य की 670 न्याय पंचायतों को आधार बनाकर कराए गए सर्वे के बाद न्याय पंचायत मुख्यालय गांवों पर बुनियादी सुविधाओं को उपलब्ध कराया जाना तय हुआ था। यह सभी कार्य अटल आदर्श ग्राम योजना के तहत होना था। संबंधित विभागों को काम सौंपे गए थे। सर्वे के बाद यह पाया गया कि 488 न्याय पंचायत मुख्यालय ग्रामों पर कृषि निवेश आपूर्ति केंद्र नहीं है। कृषि विभाग को इसकी जिम्मेदारी दी गई। लेकिन गुरुवार को जब मुख्यमंत्री डा.रमेश पोखरियाल निशंक ने अटल आदर्श  ग्राम योजना की समीक्षा की तो वह कृषि विभाग का फामरूला सुनकर सन्न रह गए।

कृषि विभाग के अफसरों ने सीएम को बताया कि ऐसे कृषि निवेश आपूर्ति केंद्रों को न्याय पंचायत मुख्यालय ग्रामों पर शिफ्ट किया जा रहा है जो कि पांच से दस किमी. की दूरी पर किसी गांव में स्थित है। बैठक में ही कुछ अफसरों ने कृषि विभाग की इस शिफ्टिंग योजना का विरोध किया। अन्य अफसरों का तर्क था कि केंद्र जहां से शिफ्ट होंगे वहां के लोग इसका विरोध करेंगे।

सीएम ने विभाग के अफसरों को पर्वतीय क्षेत्र में पांच-दस किमी. की दूरी का मतलब समझाते हुए कहा कि पहाड़ के पांच किमी. का अंदाजा है ? इस पर बैठक में सन्नाटा पसर गया। सीएम ने शिफ्टिंग की कार्यवाही बंद करने और नए निवेश केंद्र स्थापित करने के निर्देश दिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सीएम ने खारिज किया कृषि विभाग का फार्मूला