पार्क, ट्रैक व कैम्पिंग हुई महंगी - पार्क, ट्रैक व कैम्पिंग हुई महंगी DA Image
10 दिसंबर, 2019|12:18|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पार्क, ट्रैक व कैम्पिंग हुई महंगी

ईको-टूरिज्म के नियमों का पालन हुआ तो वन विभाग की सुविधाओं का लुत्फ उठाना अब आम लोगों के लिए आसान नहीं होगा। विभाग ने शासनादेश जारी कर स्वदेशी व विदेशी पर्यटकों पर पूर्व में लगाये जाने वाले शुल्क में तीन गुना वृद्धि की गयी है। वन विभाग ने संरक्षित राष्ट्रीय पार्को, पशु बिहार के साथ ही प्रभाग के बाहरी क्षेत्रों में पड़ने वाले पर्यटक स्थल, ट्रैक, कैपिंग, धार्मिक स्थल, साहसिक पर्यटक स्थलों को ईको-टूरिज्म से जोड़ते हुए वर्तमान समय में लिये जा रहे शुल्क को बढ़ाकर तीगुना कर दिया है।

31 दिसबंर को जारी शासनादेश संख्या 3927/10-2-2009-12-7/2003 में विभाग ने ईको पर्यटन सुविधा में कैपिंग के लिए विभागीय टैंट दो व्यक्ति भारतीय के लिए 2 सौ और विदेशी के लिए 4 सौ, चार व्यक्ति पर 3 सौ व 6 सौ, बड़ा टैंट 5 सौ व एक हजार रुपये निर्धारित किया है। जबकि पर्यटकों के निजी टैंट पर शुल्क प्रति दिन भारतीय के लिए क्रमश: 50, 100 व विदेशियों के लिए सौ व दो सौ रुपये निर्धारित किया है।

कैपिंग के साथ विभाग ने शारदा, नयार, टोंस, डोडीताल, असी गंगा, गंगा नदी, व्यासघाट में ऐग्लिंग शुल्क प्रति राड 5 सौ, कोसी व कोठडी नदी में 750 रुपये रखा गया है। इसके अलावा आरक्षित व संरक्षित क्षेत्रों में बने वन विश्रम भवनों के किराये में भारी इजाफा करते हुए विभाग ने प्रीमियम श्रेणी के रानीखेत, कौसानी, हर्षिल, लच्छीवाला, मुनिकीरेती, कैम्पटी, चीला, किल्बरी, बिन्सर के लिए भारतीय को 15 सौ व विदेशी के लिए 3 हजार रुपये प्रतिदिन निर्धारित किया है।

श्रेणी ए के जागेश्वर, चकराता, धनौल्टी, गंगोत्री, कनासर, कड़ावापानी, मोतीचूर, खिसरू, देवप्रयाग, कर्णप्रयाग, नंदप्रयाग, जोशीमठ, नई टिहरी, धरासू, भटवाडी, भैरवघाटी, बर्नीगाड़, जर्मोला, बड़कोट, कोटबंगला, रामनगर, हल्द्वानी टनकपुर के लिए भारतीय एक हजार व विदेशी दो हजार शुल्क देंगे। बी श्रेणी के अतिथि गृह के लिए 750 व 15 सौ रुपये शुल्क रखा गया है। जबकि राज्य सरकार के अधिकारियों व कर्मचारियों के लिए ड्यूटी में होने की दशा पर 25 रुपये प्रतिदिन व बिना ड्यूटी के 250 फिक्स रखा गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पार्क, ट्रैक व कैम्पिंग हुई महंगी