जंगली जानवरों के हमले में मौत पर मिलेंगे दो लाख - जंगली जानवरों के हमले में मौत पर मिलेंगे दो लाख DA Image
17 नबम्बर, 2019|1:41|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जंगली जानवरों के हमले में मौत पर मिलेंगे दो लाख

उत्तराखंड वन्यजीव बोर्ड की गुरुवार को हुई बहुप्रतीक्षित बैठक में जंगली जीवों के हाथों हुई मानव क्षति का मुआवजा बढ़ाने पर सहमति बन गई है। इससे पूर्व गुपचुप तरीके से 28 जनवरी को हुई बैठक पर बोर्ड के अन्य सदस्यों ने आपत्ति जताई थी, जिस कारण गुरुवार को पुन: बैठक बुलाई गई।

वन्य पशुओं बाघ, तेंदुआ, गुलदार, स्नो लेपर्ड, लकड़बघ्घा व भालू द्वारा मारे जाने पर मिलने वाली मुआवजा राशि को एक लाख से बढ़ाकर दो लाख कर दिया है। अवयस्क के मारे जाने पर इससे पूर्व संस्तुत राशि एक लाख ही मिलेगी। गंभीर रूप से घायल व्यक्ति को 15 हजार के स्थान पर 25 हजार, आंशिक अपंग को 25 हजार से 50 हजार, पूर्ण अपंग को एक लाख की बजाय दो लाख की मुआवजा राशि मिलेगी।

वन्यजीवों द्वारा मारे जाने पर गाय का तीन हजार से स्थान पर छह हजार, घोड़े व खच्चर का पांच हजार के स्थान पर 15 हजार, तीन वर्ष से अधिक आयु बैल व भैंस का पांच हजार के स्थान पर 10 हजार मुआवजा मिलेगा। अवयस्क गाय व भैंस की भी राशि बढ़ी है। बकरी व भेड़ के मारे जाने पर एक हजार रुपए मिलेंगे। जानवरों द्वारा फसलों व मकान को पहुंचाई गई क्षति पर पचास से पचहत्तर प्रतिशत की वृद्धि की गई है। राज्य बनने के बाद राज्य वन्यजीव परिषद की यह चौथी बैठक है।

अपर प्रमुख वन संरक्षक श्रीकांत चंदोला ने बताया मुआवजा राशि को युक्तिसंगत बनाने के लिए वन संरक्षक शिवालिक वृत्त की अध्यक्षता में गहन अध्ययन कराया गया था। बोर्ड ने सुझाए गए प्रस्तावों पर मुहर लगा दी। बोर्ड को मुआवजा बढ़ाने संबंधी प्रस्ताव 13 जुलाई 2009 को प्राप्त हुआ था। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जंगली जानवरों के हमले में मौत पर मिलेंगे दो लाख