सपा ने भी जताया रायबरेली के पुल पर हक - सपा ने भी जताया रायबरेली के पुल पर हक DA Image
21 नबम्बर, 2019|5:22|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सपा ने भी जताया रायबरेली के पुल पर हक

रायबरेली जिले के डलमऊ में गंगा नदी पर बने पुल पर बसपा और कांग्रेस के बीच दावेदारी की चल रही लड़ाई में गुरुवार को समाजवादी पार्टी भी कूद गई। पार्टी ने कहा है कि दरअसल इस पुल के निर्माण की मंजूरी वर्ष 2004-05 में तत्कालीन मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव ने दी थी। उन्होंने इसका शिलान्यास भी किया था। विकास का झूठा डंका बजाने वाली बहुजन समाज पार्टी की सरकार सपा सरकार के शासनकाल में हुए तमाम विकास कार्यो को अपना बताकर लोकार्पण करने में जुटी है।

सपा प्रवक्ता राजेन्द्र चौधरी ने कहा कि कांग्रेस को भी रायबरेली में बसपा के इस तौर-तरीके के अहसास हुआ तभी वह बौखलाई है। दरअसल यूपी के विकास में किस पार्टी की सरकार अड़ंगा नहीं डालती और कौन इसमें लंगड़ी लगाती है यह डलमऊ पुल मामले में कांग्रेस के नेतृत्व वाली केन्द्र सरकार को भी खूब पता चल गया होगा।

मुलायम सिंह यादव की सरकार ने इस पुल को तब मंजूरी दी और शिलान्यास किया जब कांग्रेस उनकी सरकार के खिलाफ दुश्मनों सरीखा बर्ताव करती थी। लेकिन बसपा सरकार के असंवैधानिक तौर-तरीकों के बावजूद वह इसके प्रति आँखें ही मूंदे हैं।

सपा प्रवक्ता ने कहा कि कांग्रेस को रायबरेली प्रकरण के बाद समझ लेना चाहिए कि बसपा सरकार की क्या हकीकत है और संविधान की रक्षा के लिए केन्द्र सरकार को जरूरी कदम उठाना चाहिए। बसपा की सरकार असंवैधानिक तरीके से काम करती है यह सपा बीते दो साल से कहती आई है। संघर्ष भी उसने ही किया है और खामियाजा भी भुगता है।

कांग्रेस और केन्द्र सरकार ने नूराकुश्ती का माहौल बनाए रखा और बसपा सरकार को संरक्षण ही दिया। अब वह उस असंवैधानिक आचरण की तोहमत लगा रही है जो हैरानी भरा है। इस नूराकुश्ती की बजाए व सरकार के खिलाफ संवैधानिक कार्रवाई करे तभी बात बनेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सपा ने भी जताया रायबरेली के पुल पर हक