और परदा गिर गया ! - और परदा गिर गया ! DA Image
10 दिसंबर, 2019|5:05|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

और परदा गिर गया !

प्रमुख अभियंता दौड़-दौड़ कर टेबल क्लाथ पकड़ा रहे थे तो मुख्य अभियंता टेबल सेट करने में जुटे थे। मातहत इंजीनियर सजावट करने में। जूनियर इंजीनियर दौड़-दौड़कर कपड़ा, गत्ता, फूल सरीखे सामान पकड़ा रहे थे। चारों ओर अफरा तफरी। बस जल्दी से जल्दी मंच तैयार हो जाना है।

यह नजारा था लोक निर्माण विभाग के सभागार का। जहाँ थोड़ी ही देर में विभागीय मंत्री नसीमुद्दीन सिद्दीकी रायबरेली के डलमऊ में बने पुल का लोकार्पण करने वाले थे। विभाग को अचानक सूचना मिली सो तैयारियाँ एकदम आनन-फानन हुईं।

मीडिया को खबर दी गई कि शाम सवा तीन बजे श्री सिद्दीकी प्रेस कांफ्रेंस करेंगे। मीडिया जब पहुँचने लगी तब भी मंच पर तैयारियाँ युद्ध स्तर पर जारी थीं। विभाग के अधिकारी व इंजीनियर टेबल लगाने से लेकर लोकार्पण समारोह लिखा बैनर टाँगने में जुटे थे। ठोकाठोकी जारी थी। पेंटिग के लिए इस्तेमाल होने वाला पर्दे से ढका कैनवास स्टेंड आ गया। उसके बगल में बटन दबाकर पर्दा खोलने वाली मशीन। खूब फूल आए। विभाग के प्रमुख अभियंता टी राम माइक टेस्टिंग करने लगे।

तब तक हाल विभागीय कर्मचारियों से खचाखच भर गया था। अचानक मंच पर पर्दा गिर गया। पर्दा खिसकाते हुए विभाग के एक इंजीनियर हँसते हुए निकले। बोले-परदा गलती से गिर गया था। थोड़ी ही देर में नसीमुद्दीन सिद्दीकी और पंचायती राज मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य मंच पर पहुँचते हैं।

कैनवास स्टैंड के पास पहुँच कर बटन दबाया। शायद मशीन ने काम नहीं किया। कैनवास पर ढके पर्दे को एक कर्मचारी ने हटा दिया। नीचे फ्लैक्स पर लिखा था-रायबरेली डलमऊ में गंगा सेतु का शिलान्यास माननीय लोकनिर्माण मंत्री नसीमुद्दीन सिद्दीकी और पंचायती राज मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य द्वारा। हॉल तालियों से गूँजने लगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:और परदा गिर गया !