सूबे में पांच वर्षो में खत्म होगी बिजली किल्लत - सूबे में पांच वर्षो में खत्म होगी बिजली किल्लत DA Image
9 दिसंबर, 2019|11:57|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सूबे में पांच वर्षो में खत्म होगी बिजली किल्लत

आगामी पांच वर्षो में प्रदेश में बिजली किल्लत पर काबू कर लिया जाएगा। वर्ष 2014-15 तक प्रदेश की बिजली की संभावित मांग 25865 मेगावाट के सापेक्ष उपलब्धता 25256 मेगावाट तक सुनिश्चित कराने के लिए बिजली विभाग ने मुकम्मल इंतजाम करने शुरू कर दिये हैं।

यूपी विद्युत नियामक आयोग को सौंपी गयी बिजली की मांग-आपूर्ति से संबंधित ताजा रिपोर्ट में पावर कारपोरेशन ने प्रदेश सरकार की ऊर्जा नीति 2009 के तहत प्रति उपभोक्ता 1000 यूनिट बिजली उपभोग के लक्ष्य को हासिल करने के लिए आगामी पांच साल के भीतर 5000 मेगावाट अतिरिक्त क्षमता वृद्धि हासिल करने का भी पूरा ब्यौरा दिया है।

रिपोर्ट के मुताबिक चालू वर्ष 2010-11 में बिजली की मांग 12495 मेगावाट के सापेक्ष उपलब्धता 10136 मेवा रहेगी यानी 2359 मेवा की कमी रहेगी। 2012-13 में मांग बढ़कर 17243 मेवा तक पहुंच जाएगी और उपलब्धता महज 13623 मेवा होगी। इस साल 2000 मेवा अतिरिक्त बिजली केस-1 के तहत उपलब्ध कराने की कवायद की जा रही है जिसके बाद कमी महज 1573 मेवा रहेगी।

वर्ष 2014-15 प्रदेशवासियों के लिए सर्वाधिक सुकून भरा हो सकता है जिसमें बिजली की मांग 25865 तक पहुंचेगी किन्तु 5000 मेगावाट की क्षमता वृद्धि वर्तमान में स्थापित की जा रही परियोजनाओं के माध्यम से होने के कारण उपलब्धता भी 25256 मेवा तक पहुंच जाएगी जिससे महज 609 मेवा की कमी प्रदेश में होगी जो अब तक की न्यूनतम कमी है। रिपोर्ट में हालांकि वर्ष 2016-17 तक बिजली की मांग व आपूर्ति में अंतर 7320 मेगा तक पहुंचने की आशंका पावर कारपोरेशन ने जताई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सूबे में पांच वर्षो में खत्म होगी बिजली किल्लत