अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हार के बाद अच्युतानंदन का इस्तीफा देने से इंकार

लोकसभा चुनाव में वामपंथी दलों के निराशाजनक प्रदर्शन के बाद मुख्यमंत्री वीएस अच्युतानंदन ने इस्तीफा देने से इंकार कर दिया है। राज्य की 20 संसदीय सीटों में से कांग्रेस 16 सीटों पर आगे है। अपनी हार के कारणों पर सीएम ने कहा कि इस पर विचार किया जाएगा। माक्र्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के नेतृत्व वाला सत्तारूढ़ वामपंथी गठबंधन महज चार सीटों पर ही आगे हैं। चुनाव परिणामों के बारे में अच्युतानंदन से जब पत्रकारों ने पूछा कि पार्टी के निराशाजनक प्रदर्शन के लिए वह किसे जिम्मेदार मानते हैं तो इसके जवाब में उन्होंने कहा, ‘‘पार्टी पोलित ब्यूरो की 18 मई को बैठक है। हार के बारे में चर्चा के लिए पार्टी की केंद्रीय और राज्य समिति की भी बैठक होगी।’’ उन्होंने कहा कि जब यह बैठकें खत्म हो जाएंगी वे इस बारे में विस्तार से चर्चा करेंगे। मुख्यमंत्री वीएस अच्युतानंदन ने कहा, ‘‘हमें बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद थी लेकिन ऐसा नहीं हुआ। हम इसकी समीक्षा करेंगे। चुनाव परिणामों से प्रदेश सरकार का कुछ भी लेना देना नहीं है। हम अपनी गलतियों से सीख लेंगे और वामपंथी दलों को राज्य में मजबूत करेंगे।’’

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: हार के बाद अच्युतानंदन का इस्तीफा देने से इंकार