अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पहले बेटा खोया अब नाती

दक्षिणी पोस्टलपार्क, सब्जीमंडी में मंगलवार की शाम मातम छाया रहा। वहां रहते हैं विष्णुशंकर। उनके छोटे नाती राजीव रांन वर्मा की पिकनिक के दौरान पानागढ़ (प.बंगाल) में डूबने से मौत हो गई। वह दुर्गापुर इांीनियरिंग कॉलेज के अंतिम वर्ष का छात्र था। राजीव की नानी लीलावती व अन्य परिानों को उसके घायल होने की सूचना दी गई लेकिन बूढ़ी नानी के अनुभव ने एहसास करा दिया कि उनका 25 वर्षीय नाती अब इस दुनिया में नहीं रहा। वह बार-बार यही सवाल करती हैं कि राजीव जिन्दा है या नहीं?ड्ढr ड्ढr दुर्गापुर इांीनियरिंग कॉलेज के प्रोफेसर ने ही राजीव के पिता अतुल कुमार वर्मा को फोन से सूचित किया कि उनका पुत्र घायल है। ये सुनते ही राजीव के माता-पिता और अन्य परिान दुर्गापुर के लिए रवाना हो गए। राजीव की नानी फफकते हुई कहतीं हैं कि डेढ़ साल पहले बेटे हरन्द्र की मौत का सदमा झेला था। रल डाक सेवा (आरएमएस) से रिटायर्ड विष्णुशंकर अपने बड़े दामाद अतुल के नवरत्नपुर, अशोकनगर स्थित के घर की देखभाल करने गए थे।ड्ढr ड्ढr मिलर स्कूल से मैट्रिक पास करने के बाद राजीव ने इंटरमीडिएट टीपीएस कॉलेज से पांच साल पहले पास किया था। उसके बाद उसका दाखिला दुर्गापुर में अतुल ने करा दिया। राजीव के बड़े भाई मनोरांन वर्मा देना बैंक, जूनागढ़ (गुजरात) में पीओ हैं। वे परिवार के साथ वहीं रहते हैं। कन्हैया निजी कंपनी में काम करते हैं। उनके दोनों बच्चे रीतिक व शुभांगी दादी लीलावती को रोते देख परेशान हैं। राजीव की इकलौती बहन चंदा की शादी अनीसाबाद, मछलीगली, बैंक में पीओ अधिकारी से हुई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पहले बेटा खोया अब नाती