अंधविश्वास से रायगढ़ में दर्जनों परिवार नहीं खेलते होली - अंधविश्वास से रायगढ़ में दर्जनों परिवार नहीं खेलते होली DA Image
15 नबम्बर, 2019|12:27|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अंधविश्वास से रायगढ़ में दर्जनों परिवार नहीं खेलते होली

छत्तीसगढ़ के रायगढ़ जिले के सात गांवों के दर्जनों परिवारों ने पिछले एक सदियों से होली नहीं खेली है। इसकी वजह कुछ और नहीं बल्कि अंधविश्वास है, जिसमें गांव वालों को लगता है कि अगर उन्होंने होली न खेलने की परम्परा तोड़ दी तो फिर से ग्रामीणों पर बाघों का हमला आरंभ हो जाएगा।

जिले के हट्टापली, मौहापाली, परधियापाली, अमलीपाली, मंजूरपाली, छीनपेतरा और जगदीशपुर गांवों के 2,2०० महिला व पुरुष होली खेलने के लिए उत्सुक हैं, परन्तु उन्हें अंधविश्वास के आगे झुकना पड़ता है। ग्रामीणों को लगता है कि अगर उन्होंने खुद के बनाए इस परंपरा को तोड़ा तो बाघ उन पर हमला कर देंगे।

सत्तर वर्षीय धोबाराम निशाद ने आईएएनएस को बताया,''नई पीढ़ी होली के रंग में सराबोर होने के लिए बेहद उत्सुक दिखती है, लेकिन लोगों की सुरक्षा के मद्देनजर गांव के वरिष्ठ लोग 1०० वर्ष पुरानी इस परंपरा को कायम रखने पर जोर देते हैं।''

हट्टापली गांव के रहने वाले निशाद ने बताया, ''जब गांव के लोगों ने 1०० वर्ष पहले अंतिम बार होली खेली थी, तब यह अफवाह फैली कि रात के दौरान बाघों ने गांव पर धावा बोला और कई लोगों को मारकर खा गए। तब से इस गांव के अलावा छह अन्य गावों ने भी होली मनानी छोड़ दी।''

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अंधविश्वास से रायगढ़ में दर्जनों परिवार नहीं खेलते होली