DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सैरातों की नीलामी में लग रहा लाखों का चूना

सैरातों की नीलामी में कर्मचारी प्रत्येक वर्ष नगर निगम को लाखों का चूना लगाते हैं। एक दर्जन से ऊपर ऐसे सैरात हैं जिसकी नीलामी नहीं होती लेकिन नगर निगम के नाम पर लाखों की वसूली की जाती है। कर्मचारी अपनी मर्जी से नीलामी के लिए सैरातों की सूची बनाते हैं। मेयर संजय कुमार ने बताया कि गांधी मैदान काली मंदिर टेम्पो स्टैंड, कारगिल चौक टेम्पो स्टैंड व मोना सिनेमा हॉल के पीछे स्थित शौचालय समेत दर्जन भर से अधिक सैरात निगम की नीलामी सूची में नहीं हैं। इन स्थानों पर अवैध वसूली होती है।ड्ढr ड्ढr अवैध वसूली की शिकायत मिलने के बाद पूर मामले की जांच करायी गयी थी। इसके लिए सैरातों की सूची बनाने के लिए अधिकृत कर्मचारी मुन्ना दोषी हैं। मुन्ना ही बहाली स्वीपर के पद हुई थी लेकिन निगम प्रशासन ने सैरातों की सूची बनाने की जिम्मेदारी दे रखी है। न्यायालय ने भी इसे मूल पद पर वापस करने का आदेश दिया है। इसके बावजूद निगम प्रशासन कान में तेल डालकर सोयी है। अवैध वसूली को बंद कराने और सैरातों की नीलामी के लिए आधा दर्जन पत्र निगम प्रशासन को लिखा गया है लेकिन कार्रवाई नहीं की जा रही है। उन्होंने कहा कि लाखों का चूना लगाने वाले कर्मचारी को निगम प्रशासन द्वारा निलंबित नहीं करना समझ से पर है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सैरातों की नीलामी में लग रहा लाखों का चूना