तसलीमा के लेख से भड़की हिंसा के बाद स्थिति बेहतर - तसलीमा के लेख से भड़की हिंसा के बाद स्थिति बेहतर DA Image
12 दिसंबर, 2019|7:35|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तसलीमा के लेख से भड़की हिंसा के बाद स्थिति बेहतर

तसलीमा के लेख से भड़की हिंसा के बाद स्थिति बेहतर

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा ने कहा कि कन्नड़ भाषा के एक दैनिक में छपे तसलीमा नसरीन के लेख के विरोध में हुई हिंसा से प्रभावित शिमोगा और हासन शहरों में स्थिति सामान्य हो रही है।

उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने कानून अपने हाथों में लिया है, उनके खिलाफ सख्ती से पेश आया जाएगा।  उन्होंने कहा कि सोमवार की रात से उन क्षेत्रों से किसी अप्रिय घटना की खबर नहीं है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि दैनिक के खिलाफ मामले दर्ज किए गए हैं और दोनों शहरों में 103 लोगों को हिरासत में लिया गया है। हिंसा से प्रभावित दोनों शहरों में 33 लोग और 25 पुलिसकर्मी घायल हो गए थे। हिंसा के दौरान 74 दुकानें और करीब 50 वाहनों को नुकसान पहुंचाया गया।

सदन की कार्यवाही शुरू होते ही विपक्षी कांग्रेस के सिद्धमैया और जद एस नेता एच डी रेवन्ना ने हिंसा से प्रभावित लोगों को मुआवजा दिए जाने की मांग की।

कन्नड़ दैनिक के रविवारीय अंक में तसलीमा के लेख का अनुवाद प्रकाशित हुआ था। येदियुरप्पा के गृह नगर शिमोगा में दो लोगों की मौत हो गई। उनमें से एक की पुलिस गोलीबारी में मौत हुई।

येदियुरप्पा ने कहा कि संपत्ति नुकसान के आकलन के आधार पर प्रभावित लोगों को मुआवजा देने के लिए कदम उठाए जाएंगे।

उन्होंने कहा कि सीआरपीएफ की एक कंपनी शिमोगा में तैनात की गयी है जबकि हासन में उन्हें तैनात किया जा रहा है।

उन्होंने घटना के लिए स्वार्थी तत्वों को दोषी ठहराया। येदियुरप्पा ने कहा कि सरकार खुफिया विभाग को मजबूत बनाने के लिए नयी भर्तियों पर विचार कर रही है।

उन्होंने कहा कि सरकार ने इस मुददे पर गह मंत्री पी चिदंबरम से विचार विमर्श किया है और उन्होंने इस संबंध में कई सुझाव दिए हैं।

इस बीच भारत में किसी अज्ञात स्थान पर रह रहीं तसलीमा ने आरोप लगाया कि लेख का प्रकाशन जानबूझकर उनकी छवि को बिगाड़ने का प्रयास है तथा गड़बड़ी पैदा करने के लिए उनके लेखन का दुरुपयोग किया गया है।

उन्होंने कहा कि उन्होंने अपने जीवन में कभी भी किसी कन्नड़ अखबार के लिए कुछ नहीं लिखा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:तसलीमा के लेख से भड़की हिंसा के बाद स्थिति बेहतर