मैंने नहीं लिखा लेख, छवि धूमिल करने की कोशिशः तस‍लीमा - मैंने नहीं लिखा लेख, छवि धूमिल करने की कोशिशः तस‍लीमा DA Image
14 दिसंबर, 2019|1:52|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मैंने नहीं लिखा लेख, छवि धूमिल करने की कोशिशः तस‍लीमा

मैंने नहीं लिखा लेख, छवि धूमिल करने की कोशिशः तस‍लीमा

बांग्लादेश की निर्वासित लेखिका तसलीमा नसरीन ने मंगलवार को कहा कि उन्होंने कभी किसी कन्नड़ अखबार के लिए कोई लेख नहीं लिखा और यह उनकी छवि धूमिल करने का प्रयास है। अखबार में छपे एक लेख के बाद कर्नाटक के कई हिस्सों में हिंसक तनाव फैल गया है।

तसलीमा ने एक वक्तव्य में कहा कि उन्होंने कर्नाटक के किसी अखबार के लिए कभी कोई लेख नहीं लिखा। तसलीमा ने कहा कर्नाटक में सोमवार को जो भी हुआ, उससे मुझे आघात पहुंचा है। मुझे पता चला कि यह संघर्ष एक कन्नड़ अखबार में मेरे द्वारा लिखे लेख द्वारा फैला, लेकिन मैंने अपनी जिंदगी में किसी कन्नड़ अखबार के लिए कोई लेख नहीं लिखा।

तसलीमा ने कहा कि लेख का प्रकाशन घटिया हरकत है। मैंने अपने किसी लेख में यह नहीं लिखा कि मुहम्मद साहब बुर्के के खिलाफ थे। इसलिए यह बिगाड़ कर पेश किया लेख है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मैंने नहीं लिखा लेख, छवि धूमिल करने की कोशिशः तस‍लीमा