DA Image
30 मई, 2020|5:48|IST

अगली स्टोरी

सहवाग पर अंतिम फैसला मैच से पहले: धोनी

सहवाग पर अंतिम फैसला मैच से पहले: धोनी

भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने मंगलवार को कहा कि विस्फोटक सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग के दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ दूसरे वनडे मैच में खेलने के बारे में फैसला बुधवार को मैच से पहले किया जाएगा। सहवाग पीठ में दर्द से परेशान हैं और वह जयपुर में रविवार को खेले गए मैच में दक्षिण अफ्रीकी पारी के दौरान क्षेत्ररक्षण नहीं कर पाए थे।

सहवाग ने कैप्टन रूपसिंह स्टेडियम में मंगलवार को अभ्यास सत्र के दौरान नेटस पर बिना किसी परेशानी के तेज गेंदबाज एस श्रीसंत और स्पिनरों का सामना किया और स्लिप कैचिंग का भी अभ्यास किया लेकिन धोनी ने कहा कि उनके बारे में अंतिम फैसला बुधवार को ही किया जाएगा। धोनी ने मैच की पूर्व संध्या पर कहा कि हम बुधवार को फैसला करेंगे। मैदान पर आज काफी समय बिताने के बाद हम देखना चाहेंगे कि कल तक उनका पीठ दर्द कैसे रहता है। अभी वह स्वस्थ दिख रहे हैं।
 
कई खिलाड़ियों की चोट की समस्या से जूझने के कारण धोनी ने खुलासा किया कि दक्षिण अफ्रीका की तरह भारत की भी रोटेशन नीति अपनाने की योजना है ताकि वह 2011 विश्व कप के लिये सर्वश्रेष्ठ टीम चुन सके। उन्होंने कहा कि आपको विश्व कप से पहले खिलाड़ियों की स्थिति का आकलन करना होगा। कई खिलाड़ी चोटिल भी हो रहे हैं। हम खिलाड़ियों को रोटेट करते रहेंगे ताकि उस समय हमारे पासे 11-12 सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी रहें।
 
धोनी ने कहा कि यह आदत सी बन गई है। प्रत्येक छह सप्ताह में कोई न कोई खिलाड़ी चोटिल हो जाता है। दुर्भाग्य से इसमें हम कुछ नहीं कर सकते। हमें दूसरे खिलाड़ियों को आजमाने का मौका मिलता है लेकिन युवा खिलाड़ी अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। रविंदर जडेजा की गेंदबाजी में सुधार के लिए तारीफ करते हुए धोनी ने कहा कि सौराष्ट्र के आलराउंडर की मौजूदगी में टीम इस सीरीज में एक गेंदबाज की कमी महसूस नहीं कर रही है। उन्होंने कहा कि हमारे पास एक गेंदबाज कम नहीं है। जडेजा विशेषज्ञ गेंदबाज बन गया है। हमने उसे गेंदबाज के रूप में तैयार किया जो अच्छी भूमिका निभा रहा है।
 
धोनी से जब पूछा गया कि क्या विराट कोहली के बल्लेबाजी क्रम में बदलाव होगा तो उन्होंने कहा कि यह स्थिति के हिसाब से बदलता है। यदि पहले विकेट के लिए बड़ी साझेदारी होती है तो तीसरे नंबर का बल्लेबाज उसी हिसाब से बदल दिया जाता है। हाल के दिनों में स्लाग ओवरों में तेज गेंदबाज नहीं चल पाए और धोनी का कहना है कि गेंदबाजों को ऐसे अवसर पर क्षेत्ररक्षण के हिसाब से गेंदबाजी करनी चाहिए।

 उन्होंने कहा कि आप केवल तेज गेंदबाजी पर ही ध्यान नहीं दे सकते। आपको स्थिति के अनुसार गेंदबाजी करनी होगी। बल्लेबाजों की फार्म ध्यान में रखनी होगी। डेथ ओवरों में यार्कर करना ही एकमात्र विकल्प नहीं है लेकिन आपको निश्चित तौर पर अपने क्षेत्ररक्षण के हिसाब से गेंदबाजी करनी होगी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:सहवाग पर अंतिम फैसला मैच से पहले: धोनी