DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शिक्षा विभाग में इजीएस घोटाला

शिक्षा विभाग में क्षीएस घोटाला प्रकाश में आया है। बंद सेंटर के नाम पर भी जेबें गर्म होती रहीं। बच्चों के निवाला अधिकारी-शिक्षक गटकते रहे। पैसे का खेल इस कदर हुआ, कि नियमों की अनदेखी कर सेंटर खुलते रहे। मामला प्रकाश में आते ही अधिकारियों के होश उड़ गये हैं। मामले की गहनता से जांच भी शुरू हो गयी है। गर्दन फंसता देखकर पारा शिक्षकों ने कई अधिकारियों के नाम भी बताये हैं। कुछ पारा शिक्षकों ने तो लिखित रूप से इसकी जानकारी दी है। मामला जिले के शहरी क्षेत्र का है।ड्ढr पांच साल पहले बंद कर दिये गये बेलदार मुहल्ला क्षीएस के नाम पर अब तक राशि निकलती रही। यही हाल दर्जी मुहल्ला डोरंडा सेंटर का है। यहां भी पारा शिक्षक का मानदेय, बच्चों के मिड डे मिल के लिए राशि एवं चावल का आवंटन होता रहा। राशि आवंटित करने के बाद खेल शुरू होता था। शिक्षा परियोजना, ग्राम शिक्षा समिति, बीआरसी एवं बीइइओ की मिलीभगत से राशि की बंदरबाट होती रही।ड्ढr डीएसइ को इसकी भनक लगते ही बीइइओ बांके बिहारी सिंह क ो जांच कर रिपोर्ट देने को कहा है। जांच में डोरंडा, जगन्नाथपुर, धुर्वा, मंडपकोच्चा, फ्रेंच कंपाउंड, कुसई कालोनी, सरना टोली, जागरणटोली समेत कई क्षेत्र में 50 से लेकर 400 मीटर की परिधि में सेंटर खोले गये। नियमानुसार एक किलोमीटर की परिधि में स्कूल नहीं होने पर सेंटर खोलने का प्रावधान था।शत-प्रतिशत हाजिरी बनाकर निकाली राशिड्ढr बीइइओ बांके बिहारी सिंह ने जांच में पाया कि क्षीएस में शत-प्रतिशत हाजिरी बनाकर राशि की निकासी होती रही। मजेदार यह है कि निरीक्षण के दिन इन केंद्रों पर दस से 20 फीसदी छात्र ही उपस्थित पाये गये। कई जगहों पर तो क्षीएस नाला पर तो कही झोपड़ी में चल रहा है। इस सेंटर का कोई औचित्य भी नहीं है। परंतु समय-समय पर अधिकारियों की जेब गर्म होती रही और घोटाला परवान चढ़ता रहा।ड्ढr बंद होंगे नियमविरुद्ध खुले सेंटर: डीएसइड्ढr डीएसइ प्रदीप चौबे ने कहा है कि नियमविरुद्ध खुले सेंटर किये जायेंगे। इसकी जांच चल रही है। बीइइओ एवं इंस्पेक्टर क ो निरीक्षण कर रिपोर्ट देने को कहा गया है। दस मार्च तक सभी अपग्रेड स्कूल का निरीक्षण कर रिपोर्ट देने का निर्देश दिया गया है। बंद सेंटर के नाम पर निकली राशि की वसूली भी होगी। दोषी अधिकारियों पर कार्रवाई भी की जायेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: शिक्षा विभाग में इजीएस घोटाला