अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हां, मैंने मां का खून किया

गांधी मैदान थाना क्षेत्र के जमाल रोड स्थित साकेत प्लाजा अपार्टमेंट में बुधवार को दोपहर बाद एक बेटे ने अपनी सौतेली मां प्रेमलता की चाकू से गोदकर हत्या कर दी। घटना के बाद हत्यारा रविरांन रक्तरािंत चाकू को लेकर शहर के फ्रेार रोड स्थित टाइम्स ऑफ इंडिया बिल्डिंग के पास खड़ा हो गया और अपनी मां की हत्या कर देने की बात कहते हुए पुलिस को बुलाने के लिए चिल्ला रहा था। इसी बीच वहां से गश्ती के क्रम में गुजर रही कोतवाली पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। बाद में रविरंजन को गांधी मैदान थाना पुलिस को सौंप दिया गया।ड्ढr ड्ढr पुलिस सूत्रों के अनुसार रविरांन बुधवार को दोपहर बाद एक्ाीबिशन रोड अपनी दवादुकान से साकेत अपार्टमेंट में स्थित 204 नंबर के अपने फ्लैट में खाना खाने आया था। उस वक्त घर में उसकी पत्नी और सौतेली मां ही थी। किसी बात को लेकर पहले उसकी अपनी मां से नोक-झोंक हुई। इसके बाद वह अपनी पत्नी को लेकर एक कमर में चला गया। थोड़ी देर बाद वह पत्नी को कमर में बंद कर बाहर निकला और किचेन में काम कर रही सौतेली मां पर टूट पड़ा। उसने प्रेमलता को संभलने का मौका दिए बिना चाकुओं के कई वार कर डाले। जब वह यह जान गया कि प्रेमलता की मौत हो चुकी है, तब रविरंजन अपार्टमेंट के नीचे आया और खून से सने चाकू को अपनी स्कूटर की डिक्की में रखकर निकल पड़ा। वह शहर के फ्रेार रोड स्थित टाइम्स ऑफ इंडिया बिल्डिंग के पास पहुंच गया। स्नातक के बाद एमबीए की पढ़ाई कर रहे हत्यार युवक रविरंजन ने बताया कि वह तीन भाइयों में सबसे छोटा है।ड्ढr ड्ढr पांच वर्ष पहले उसकी मां की कैंसर से मौत हो गई थी। इसके कुछ माह बाद ही एलआईसी एजेंट उसके पिता डीके अग्रवाल ने बिना किसी को कुछ बताए प्रेमलता को पत्नी बनाकर घर में बिठा दिया। रविरंजन का आरोप है कि पिछले तीन वर्षो से प्रेमलता उसे और उसके दो बड़े भाइयों और उनकी पत्नियों को प्रताड़ित कर रही थी। इस वजह से मंबई और पुणे में कार्यरत उसके भाई अभिषेक और विवेक दो वर्षो से घर नहीं आ रहे हैं। पुलिस ने रविरंजन के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।ड्ढr ड्ढr मौत एक, जख्म कइयों को!ड्ढr पटना ( का.सं.)। सौतेली मां के खिलाफ काफी दिनों से दिल में आक्रोश पाले रविरांन ने अपने साथ-साथ कई जिंदगियां तबाह कर डालीं। डेढ़ वर्ष पूर्व ही रवि के साथ मरने जीने की कसम खाकर सात फेर लेने वाली विनीता को बुधवार को घटी घटना के बाद यह समझ नहीं आ रहा कि वह कर तो क्या कर। वह अपने उस ससुर को कैसे मुंह दिखाए। इस घटना के बाद अब इस घर में वनीता और उसके ससुर ही अकेले रह गए हैं। रवि की पत्नी का मायके भागलपुर में है।ड्ढr रविरांन ने चाकू तो चलायी अपनी मां पर, लेकिन इस घटना ने मां-बेटे के बीच के संबंधों की भी हत्या कर दी। रवि की सगी मां अपने बेटे को सरकारी अधिकारी के रूप में देखना चाहती थी। जब उसे कैंसर से मौत का एहसास होने लगा तो उन्होंने मृत्यु पूर्व अपने छोटे लाडले बेटे से यह वचन लिया था कि वह उनका नाम रौशन करगा।ड्ढr ड्ढr स्वर्गीय माता की दिली तमन्ना को पूरा करने के ख्याल से रविरांन दवाइयों का व्यवसाय करने के साथ एमबीए की पढ़ाई भी कर रहा था। पर सौतली मां के खिलाफ उसमें उपजे आक्रोश ने उसकी तमन्नाओं पर पानी फेर दिया। उसने अपने साथ-साथ अपनी पत्नी का भविष्य भी दांव पर लगा दिया। हालांकि थाने में जिसने भी इस हत्यार की बातें सुनी कुछ पल के लिए उसकी सहानुभूति इस मातृहन्ता के साथ हो गई।हर कोई यह सोचने पर मजबूर हो गया कि कुछ ऐसी बात जरूर होगी जिसने भविष्य के सपने देखने वाले इस नौजवान को अपना भविष्य अंधकारमय बनाने पर मजबूर होना पड़ा।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: हां, मैंने मां का खून किया