अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पीलीभीत में सिर चढ़ कर बोल रहा हैवरुण फैक्टर

भाजपा के प्रत्याशी वरुण गांधी की रासुका के तहत गिरफ्तारी और अब उच्च न्यायालय के सलाहकार बोर्ड से रासुका लगाने के निर्णय को गलत करार दिए जाने के बाद इस संसदीय क्षेत्र में वरूण फैक्टर सिर चढ़ कर बोल रहा है। रासुका को लेकर इतनी राजनीति हुई कि आगामी 13 मई को इस संसदीय सीट के चुनाव परिणाम पर पूरे देश की निगाह टिकी हुई है। उत्तेजक भाषण के कारण चुनाव आयोग की नजर में आए वरूण की गिरफ्तारी के बाद उन पर रासुका लगाया गया। मां मेनका गांधी से विरासत में मिली इस सीट पर वरूण न सिर्फ अपनी साख बचा पाने में सफल होंगे बल्कि पडा़ेस की आंवला सीट जहां ने उनकी मां प्रत्याशी हैं उसे भी बचा ले जाएंगे। मेनका गांधी इस सीट से पांच बार सांसद रहीं फिर भी इस क्षेत्र को विकास के मामले में पिछड़ा हुआ माना जाता है। बताया जाता है कि संसदीय क्षेत्र के लोग उनकी विकल्प की तलाश में थे और इसके लिए उनके भाई सरदार वीएम सिंह मौजूद थे। कांग्रेस प्रत्याशी और देश के सबसे धनी प्रत्याशी वीएम सिंह ने किसानों के हितों के अलावा माधो टांडा बलात्कार कांड और दिलशाद हत्या की जांच केन्द्रीय जांच ब्यूरो से कराने में मुख्य भूमिका अदा की थी। चुनाव के शुरूआती दौर में यह लगा था कि मतदाताआें ने वरुण को नकार दिया है और वीएम सिंह स्वीकार कर लिए गए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पीलीभीत में सिर चढ़ कर बोल रहा है वरुण फैक्टर