DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बाप की शर्मनाक करतूत

वहशी बाप ने दरिंदगी की हद को पार कर पावन रिश्ते को कलंकित कर दिया। सौतेले पिता संजय यादव ने पहले तो छल-प्रपंच करके लगातार बेटी की अस्मत लूटी और जब जूली (परिवर्तित) ने विरोध किया तो उस पर चाकू से ताबड़तोड़ प्रहार कर दिये। गंभीर स्थिति में जूली को इलाज के लिए एनएमसीएच में भर्ती कराया गया है। रोंगटे खड़ी कर देने वाली यह घटना बहादुरपुर थाने के संदलपुर मुहल्ले में बुधवार की दोपहर हुई। देर रात पुलिस ने संदलपुर इलाके में ही घेराबंदी करके आरोपित संजय यादव को गिरफ्तार कर लिया।ड्ढr ड्ढr पुलिस के समक्ष दिये बयान में जूली ने कहा कि बहुत दिनों से उसके सौतेले पिता खाना में नशा की दवा खिलाने के बाद दुष्कर्म कर रहा थे। बुधवार को भी भोजन में दवा मिलाई लेकिन गलती से जूली की सबसे छोटी बहन प्रीति (10 वर्ष) ने खाना खा लिया। इससे अंजान पिता बेटी के पास पहुंच कर नापाक हरकतें करने लगा। हालांकि होश में होने के कारण जूली ने विरोध करते हुए शोर मचाना शुरू कर दिया। तब बौखलाये संजय ने उसके गर्दन और चेहर पर चाकू से वार किये औरड्ढr भाग गया।ड्ढr ड्ढr पेशे से संजय निजी ड्राइवर है। उसने 2004 में नरश तिवारी की पत्नी रखा तिवारी से शादी रचा ली थी। तीनों बेटियों जुली, निधि व प्रीति को संजय के पास छोड़कर रखा इन दिनों एक निजी नर्सिग होम में काम कर रही है। बहरहाल घटना के बाबत थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई है। थानाध्यक्ष संजीव कुमार ने बताया कि आरोपित संजय पियक्कड़ है। वैसे पूरी छानबीन के बाद ही स्थिति स्पष्ट होगी। दूसरी तरफ पुलिस हिरासत में संजय ने दुष्कर्म से इनकार करते हुए सिर्फ मारपीट करने की बात स्वीकारी। उसने बताया कि पिछले करीब दो महने से पत्नी रखा तीनों बेटियों को उसके पास छोड़ कार चली गई थी। उसने पहले भी उसे बच्चों को ले जाने के लिए कहा था।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बाप की शर्मनाक करतूत